CM अशोक गहलोत : आमजन को तत्काल राहत मिले, अधिक से अधिक समस्याओं का हो समाधान








लखासर में प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत आयोजित शिविर का किया अवलोकन



बीकानेर, 29 अक्टूबर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आमजन की लंबित समस्याओं का त्वरित समाधान हो जाए और इसके लिए उन्हें दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़े, इसी उद्देश्य के साथ प्रशासन गांवों के संग और प्रशासन शहरों के संग अभियान प्रारम्भ किए गए हैं।
मुख्यमंत्री शुक्रवार को श्रीडूंगरगढ़ के लखासर गांव में प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत आयोजित शिविर को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2012-13 में भी ऐसे अभियान चलाए गए थे, जो बेहद सफल रहे। आमजन को राहत पहुंचाने और उनकी अधिक से अधिक समस्याओं के समाधान के उद्देश्य के साथ इस बार भी यह शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। ग्रामीण इनका भरपूर लाभ उठाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान सरकार ने कोरोना का बेहतरीन प्रबंधन किया। इसे पूरे देश और दुनिया ने देखा। प्रदेश के भीलवाड़ा माॅडल को सभी ने सराहा। राज्य सरकार द्वारा हजारों श्रमिकों को उनके घरों तक निःशुल्क पहुंचाया गया। सभी मरीजों को निःशुल्क इलाज हुआ। आॅक्सीजन और दवाइयों का अच्छा प्रबंधन किया गया। उन्होंने कहा कि इस दौरान राज्य सरकार ने जीवन रक्षा के सर्वोच्च ध्येय के साथ कार्य किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान राज्य सरकार द्वारा 35 लाख लोगों को प्रति व्यक्ति साढे़ पांच हजार रुपये की सहायता राशि उपलब्ध करवाई गई। कोई भूखा नहीं सोए के आह्वान पर अनेक संस्थाएं और भामाशाह आगे आए तथा भरपूर सहयोग दिया। उन्होंने कहा कि रीट परीक्षा के दौरान राज्य सरकार द्वारा परीक्षार्थियों के लिए निःशुल्क परिवहन की सुविधा उपलब्ध करवाई गई। इस दौरान दूसरे प्रदेशों से आने वाले युवाओं ने राजस्थान की मेहमान नवाजी को देखा और इसे सराहा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के जन-जन में सेवा की भावना है, जो कि सभी के लिए गर्व का विषय है।
श्री गहलोत ने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति को सुलभ चिकित्सा सुविधा मिले, इसके मद्देनजर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना प्रारम्भ की गई है। यह योजना अपने आप में मिसाल है तथा देश के किसी भी दूसरे राज्य में ऐसी योजना का संचालन नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक  परिवार इस योजना के तहत पंजीकरण करवाए, जिससे उसके परिवार को पांच लाख रुपये तक के स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिल सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के 14 हजार करोड़ रुपये के ऋण माफ करते हुए अपना वादा निभाया। पशुपालकों को दुधारू पशुओं के दूध पर दो रुपये प्रति लीटर सब्सिडी दी गई। प्रदेश में पशुओं के लिए निःशुल्क दवाइयों की सुविधा दी जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में पहली बार महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारम्भ किए गए हैं। पिछले ढाई वर्षों में 123 नए महाविद्यालय खोले गए हैं। इनमें से 33 महाविद्यालय छात्राओं के लिए प्रारम्भ किए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों की जिन स्कूलों में पांच सौ से अधिक बच्चियां पढेंगी, उन्हें कन्या महाविद्यालय के रूप में क्रमोन्नत किया जाएगा।
श्री गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा एक लाख युवाओं को नौकरियां दी गई हैं। लगभग 70 हजार प्रक्रियाधीन हैं। इसी प्रकार लगभग 3 हजार 500 अनुकम्पा नियुक्तियां दी गई हैं। सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ाई गई है। इससे जरूरतमंद लोग आत्मसम्मान के साथ जीवन यापन कर रहे हैं। उन्होंने शिविरों के दौरान अधिक से अधिक लोगों को पेंशन योजना से जोड़ने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सड़क सुदृढ़ीकरण के क्षेत्र में प्रदेश सरकार बेहतर कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का संकल्प है कि राजस्थान का चहुंमुखी विकास हो तथा यहां अधिक से अधिक निवेश आए। नई-नई औद्योगिक इकाइयां प्रारम्भ हों तथा अधिक से अधिक युवाओं को इनका लाभ मिले, सरकार इसके लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि बीकानेर, जैसलमेर और बाड़मेर जैसे क्षेत्र सोलर हब के रूप में विकसित हो रहे हैं। आने वाले समय में इसका भरपूर लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि बिजली उत्पादन के क्षेत्र में हम आत्मनिर्भर बन रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा किसी प्रकार की कमी नहीं रखी जा रही है तथा अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति राज्य सरकार के इन प्रयासों को समझें और विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी हासिल करते हुए इनका लाभ उठाएं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के खिलाड़ियों को अवसर प्रदान करने के लिए राजस्थान ग्रामीण ओलम्पिक खेल आयोजित किए जा रहे हैं। इसमें अधिक से अधिक खिलाड़ी भाग लें।
श्री गहलोत ने कहा कि खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए पुलिस विभाग में उप अधीक्षक स्तर तक की नौकरी दी गई है। ओलम्पिक खेलों में पदक जीतने वालों की प्रोत्साहन राशि बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा है कि वाॅलीबाल, कबड्डी और खो-खो जैसे पारम्परिक खेलों को बढ़ावा मिले। इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
शिक्षा राज्य मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कोरोना संकट के बावजूद प्रदेश को बेहतरीन बजट दिया और ऐसी योजनाएं प्रारम्भ की, जो सभी वर्गों के लिए लाभदायक सिद्ध हुई है। राज्य सरकार द्वारा विपरीत परिस्थितियों के बावजूद संसाधनों का बेहतर प्रबंधन करते हुए आमजन को राहत पहुंचाई है। राज्य सरकार ने गांव, गरीब और किसान के हित में अनेक फैसले लिए हैं।
डोटासरा ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से आज गरीब का बेटा भी अंग्रेजी माध्यम स्कूल में पढ़ रहा है। किसानों के ऋण माफ हुए हैं। पहली बार अलग से कृषि का बजट शुरू किया जा रहा है। आमजन की परिवेदनाओं के निस्तारण के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रशासन गांवों के संग तथा प्रशासन शहरों के संग अभियान प्रारम्भ किया गया है। इस अभियान की माॅनिटरिंग मुख्यमंत्री द्वारा स्वयं की जा रही है। युवाओं को रोजगार देने और बेरोजगारी को कम करने की दिशा में भी राज्य सरकार का विशेष फोकस है। जिला कलक्टर श्री नमित मेहता ने आभार व्यक्त किया।
मुख्यमंत्री ने किया विभागीय कार्यों का निरीक्षण
मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने शिविर में लगाई गई विभागीय स्टाॅल्स का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने विभागीय योजनाओं और गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंने हैल्प डेस्क का अवलोकन किया तथा शिविर में आने वाले परिवादियों का रिकाॅर्ड इसमें संधारित करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की। गर्भवती महिला को चूनरी ओढ़ाकर सम्मान किया तथा बच्चियों को पठन-पाठन सामग्री प्रदान की। नाबार्ड की योजना के तहत श्री भोमियाजी स्वयं सहायता समूह को ऋण के रूप में दो लाख रुपए का चैक सौंपा।
इनकी रही मौजूदगी
इस अवसर पर खाजूवाला विधायक गोविन्द राम मेघवाल, श्रीडूंगरगढ़ विधायक गिरधारी लाल महिया, पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल, पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा, जिला प्रमुख मोडाराम मेघवाल, श्रीडूंगरगढ़ पंचायत समिति प्रधान सावित्री देवी गोदारा, गजेन्द्र सिंह सांखला, यशपाल गहलोत, जिया उर रहमान, पूर्व सांसद भरत राम मेघवाल, पूर्व संसदीय सचिव कन्हैयालाल झंवर, पूर्व सांसद शंकर पन्नू, मदन गोपाल मेघवाल, जिला प्रभारी सचिव आलोक गुप्ता, संभागीय आयुक्त भंवरलाल मेहरा, पुलिस महानिरीक्षक प्रफुल्ल कुमार, पुलिस अधीक्षक योगेश यादव, गोपाल गहलोत, पूर्व महापौर मकसूद अहमद, लक्ष्मण कड़वासरा, बिशनाराम सियाग, संजय आचार्य, सुमित कोचर, मनोज चौधरी, सलीम भाटी, सलीम सोढा, पूर्व प्रधान सरिता मेघवाल, हारून राठौड़, डाॅ. तनवीर मालावत, अरविंद मिढ्ढा, डाॅ. मिर्जा हैदर बैग आदि मौजूद रहे।
Popular posts
माल यातायात को बढावा देने के उद्देश्‍य से मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में बिजनेस डवलपमेंट यूनिट(बीडीयू) मीटिंग
Image
बीएसएफ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम दास 31 वर्ष की सेवा के उपरांत सेवानिवृत्त, डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने दी शुभकामनाएं
Image
श्रीराम सुपर 111 और 1-एसआर-14 गेहूं बीज राजस्थान के किसानों को दे रहा है बेहतर उत्पादकता !
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने हेतु एनआरसीसी के महत्ती प्रयास, रोशनी युक्त सौन्दर्यकरण बेल आकृति लोकार्पित
Image
बीकानेर में दमखम दिखाने वाले चयनित पावर लिफ्टर खिलाड़ी राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में लेंगे हिस्सा!
Image