गंगा और गाय हमारी अमूल्य निधि : संत भावनाथजी




बीकानेर। संतश्री भावनाथ आश्रम में स्थित गौ शाला में गंगा सप्तमी महोत्सव कोरोना गाइड लाइन की पालना करते हुवे गंगाजल के साथ गायों का भी प्रतीकात्मक पूजन कर मनाया गया तथा गायों को हरि सब्जी खिलाई गई। इस अवसर संतश्री भावनाथजी महाराज ने कहा कि गंगा और गाय भारत भूमि की अमूल्य निधि है इसकी सुरक्षा करना हर भारतीय का दायित्व है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाएं रोकनी है तो गाय और गंगा का महत्व हर किसी को समझना चाहिये। सस्कृतिकर्मी रमक झमक के अध्यक्ष प्रहलाद ओझा 'भैरुं' ने गंगा और गाय का स्वस्तिवाचन कर पूजन किया। इस दौरान ओझा ने कहा कि गंगा जल में जल्दी से बैक्टीरिया नहीं पनपते वैसे ही गाय के गोबर के पास रेडिएशन कम हो जाता है, वैज्ञानिको को इस पर और अधिक रिसर्च करना चाहिये।विष्णु गहलोत, बजरंग राजपुरोहित ने गायों को चारा खिलाया व संतश्री भावनाथजी की उपस्थिति में  ईश्वर से प्रार्थना की गई कि संसार को शीघ्र ही कोरोना मुक्त करें।

Popular posts
विश्व में सबसे ज्यादा सड़क सुरक्षा पर दोहे लिखकर बीकानेर के मेवासिंह ने बनाया रिकॉर्ड !
Image
बीएसएफ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम दास 31 वर्ष की सेवा के उपरांत सेवानिवृत्त, डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने दी शुभकामनाएं
Image
बेटिकट यात्रियों, नियम को नहीं मानने वालों से बीकानेर मंडल ने वसूला 1 करोड़ रुपए से ज्यादा राजस्व : रविंद्र चौहान पहले व आशीष व्यास दूसरे नंबर पर
Image
राजकीय डूंगर महाविद्यालय में वाहनों के प्रदूषण जाँच के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक द्वारा शिविर आयोजित
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने हेतु एनआरसीसी के महत्ती प्रयास, रोशनी युक्त सौन्दर्यकरण बेल आकृति लोकार्पित
Image