उच्च शिक्षामंत्री भाटी ने लिखा कुलपति-प्राचार्यों को पत्र 'संकट के दौर में आगे आकर मदद करें यूनिवर्सिटी-कॉलेज'









बीकानेर, 29 अप्रैल (सीके न्यूज/छोटीकाशी)। राजस्थान के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने समस्त राज्य पोषित विश्वविद्यालयों तथा सभी राजकीय एवं निजी महाविद्यालयों के प्राचार्यों से कोविड.19 संक्रमण के नियंत्रण के लिए आवश्यक चिकित्सा उपकरण, संसाधन एवं आर्थिक सहयोग मुहैया करवाने का आह्वान किया है। कुलपतियों और प्राचार्यों को लिखे गए पत्र में भाटी ने कहा है कि देश और प्रदेश में कोविड.19 की सैकण्ड वेव के कारण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल सहित आमजन अत्यधिक संकट से जूझ रहे हैं। इस संक्रमण के कारण बढ़ते मरीजों के उपचार के लिए राज्य में आक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटिलेटर, बैड, आक्सीमीटर, दवाइयां और अन्य चिकित्सा उपकरणों की अत्यधिक आवश्यकता है। इस महामारी से लडऩे के लिए प्रदेश की विभिन्न संस्थाओं और भामाशाहों द्वारा यथाशक्ति सहयोग प्रदान किया जा रहा है, जो कि सराहनीय है। राज्य के विश्वविद्यालयों और शिक्षण संस्थाओं ने पूर्व में भी विभाग द्वारा किए गए आग्रह पर राज्य सरकार को इस महामारी के दौरान विभिन्न प्रकार की सहायता प्रदान की थी। इसी श्रृंखला में भाटी द्वारा संकट की इस घड़ी में यथा शक्ति चिकित्सा उपकरण, दवाइयां एवं आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाकर मानव सेवा में अपना अमूल्य सहयोग देने की अपील की गई है, जिससे आमजन का जीवन बचाया जा सके। उन्होंने कोविड प्रबंधन के लिए इन संस्थानों के परिसरों के उपयोग की अनमुति सरकार, स्थानीय प्रशासन या चिकित्सा विभाग को देने तथा कोविड महामारी विरूद्ध जनचेतना के लिए आनलाइन वेबिनार, संगोष्ठियां और वर्कशॉप आदि आयोजित करने का आह्वान भी किया है।

Popular posts
श्री विश्वशांति एवं महालक्ष्मी कुबेर अनुष्ठान में लिये गये संकल्प का फल राष्ट्रपति से लेकर हर आम इंसान को मिलेगा : राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज
Image
15 हजार 119 व्यापारियों ने लिया वाणिज्यिक कर विभाग की एमनेस्टी स्कीम का लाभ, 42 करोड़ रुपये माफ : हरि सिंह चारण
Image
प्रयागराज-जयपुर एक्सटेंशन बीकानेर ट्रेन को जल्द चलाया जाए, पुरी ट्रेन के खाली रेक को भेजें हरिद्वार
Image
नवाचार के साथ संयुक्त शपथग्रहण समारोह, नारायण चोपड़ा ने श्रावक निष्ठा पत्र का सभी को वाचन करवाया
Image
अभिमंत्रित सिद्ध होने वाले 5 हजार कलश जिस घर में पहुंचेंगे वहां सम्पन्नता, ऐश्वर्य, सुख व समृद्धि का होगा वास
Image