किसानों की आत्मा पर सीधी चोट, भाजपा सरकार पर कड़े प्रहार किए मंत्री भंवरसिंह भाटी ने





बीकानेर, 29 दिसम्बर (छोटीकाशी डॉट पेज)। राजस्थान के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में विधानसभा वार आयोजित किये जा रहे 'किसान संवाद कार्यक्रम' के अन्तर्गत अपने विधानसभा क्षेत्र कोलायत में आयोजित कार्यक्रम में केन्द्र सरकार द्वारा लाये गए कृषि बिलों को किसान विरोधी काले कानून बताते हुये इन्हें किसानों की आत्मा पर सीधी चोट कहा तथा केन्द्र की भाजपा सरकार पर कड़े प्रहार किये। उच्च शिक्षा मंत्री भाटी ने मेघवाल धर्मशाला कोलायत में आयोजित सभा में बड़ी संख्या में उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये तीनों काले कृषि बिलों पर (1) कृषि उपज, वाणिज्य व्यापार (सवंर्धन एवं सुविधा) अधिनियम 2020, (2) कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत एवं आश्वासन एवं कृषि सेवा समझौता अधिनियम 2020 (3) आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम 2020 पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि जनता ने बड़ी आशा से प्रधानमंत्री मोदी के वादों पर भरोसा करते हुए उन्हें बहुमत से जिताया लेकिन मोदी के वादे विदेशों से काला धन लाकर हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख डालेगे, बेरोजगारों को प्रतिवर्ष 2 करोड रोजगार देंगे, किसानो की आय दुगनी कर देंगे में से कोई वादा पूरा न कर किसानों के शोषण के लिए किसानों की जमीन व फसल कुछ औद्योगिक घरानों को गिरवी रखने की तैयारी कर ली जो काम अंग्रेजो ने नहीं किया, भाजपा ने किसानों का वैसा शोषण करने की तैयारी कर ली है। मंत्री भाटी ने कहा किसान अपनी जमीन व फसल को अपने खून पसीने से सींच कर अपनी औलाद के समान पालता है, जो उसके जीने का सहारा बनती है, किन्तु केन्द्र सरकार के इन तीनों कृषि बिलों के लागू होने से किसान के पास न जमीन बचेगी, न फसल वह कृषि कम्पनियों व औद्योगिक घरानों के आगे बेबस हो जायेगा और उसे जैसा कम्पनी चाहेगी वैसा करने को मजबूर होना ही पड़ेगा। कम्पनी जो चाहेगी वह फसल बोनी पड़ेगी, कम्पनी बीज व फसल की क्वालिटी निर्धारित करेगी और कम्पनी ही कीमत तय करेगी। इस प्रकार इन काले कानून में फंस कर किसान बंधुआ मजूदर बन जायेगा, कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ यह अन्याय नहीं होने देगी, गांव-गांव और ढाणी-ढाणी से कांग्रेस कार्यकत्र्ता किसानों के साथ मिलकर इस काले कानून का विरोध करेंगे और किसान विरोधी भाजपा सरकार को यह तीनों काले कृषि कानून वापस लेने के लिये मजबूर करेगी। मंत्री भंवर सिंह भाटी ने अपने सम्बोधन में कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों के हित में लिये गये अनेक निर्णयों के बारे में भी बताया जिसमें किसानों की ऋण माफी, नये न्यूनतम समर्थन क्रय केन्द्र एवं मण्डियों के विकास कार्य, बीज एवं खाद वितरण आदि के साथ.साथ उन्होंने वर्तमान सरकार द्वारा दो वर्ष के शासन की अल्प अवधि में कोलायत विधानसभा क्षेत्र के करवाये गये विकास कार्यो की जानकारी भी दी। कृषि बिल विरोधी किसान हस्ताक्षर अभियान के बीकानेर जिला प्रभारी फूलसिंह ओला ने भी किसानों को सम्बोधित करते हुये कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताया एवं परम्परागत कृषि को नष्ट करने वाला बताया तथा इसे औद्योगिक घरानों के हित में बताते हुये इसे अविलम्ब वापस लिये जाने की मांग की। किसान संवाद कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में किसानों के साथ.साथ कांग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकत्र्ता भी उपस्थित रहे। इसमें कोलायत प्रधान प्रतिनिधि झंवर लाल सेठिया, ब्लॉक अध्यक्ष रूपाराम मेघवाल, मोहनदान जिला परिषद सदस्य, शिवलाल मेघवाल सरपंच प्रतिनिधि नोखड़ा, प्रभूराम अक्कासर, जयराम एवं अनेक नवनिर्वाचित सरपंच, जिला परिषद एवं पंचायत समिति सदस्य शामिल है।

Popular posts
विश्व में सबसे ज्यादा सड़क सुरक्षा पर दोहे लिखकर बीकानेर के मेवासिंह ने बनाया रिकॉर्ड !
Image
बीएसएफ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम दास 31 वर्ष की सेवा के उपरांत सेवानिवृत्त, डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने दी शुभकामनाएं
Image
बेटिकट यात्रियों, नियम को नहीं मानने वालों से बीकानेर मंडल ने वसूला 1 करोड़ रुपए से ज्यादा राजस्व : रविंद्र चौहान पहले व आशीष व्यास दूसरे नंबर पर
Image
राजकीय डूंगर महाविद्यालय में वाहनों के प्रदूषण जाँच के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक द्वारा शिविर आयोजित
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने हेतु एनआरसीसी के महत्ती प्रयास, रोशनी युक्त सौन्दर्यकरण बेल आकृति लोकार्पित
Image