जोधपुर मिलिट्री स्टेशन में विजय दिवस पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित




जोधपुर {CK NEWS} 16 दिसंबर 2020 को जोधपुर मिलिट्री स्टेशन में कोणार्क कोर द्वारा विजय दिवस मनाया गया। इस अवसर पर मेजर जनरल समीर कल्ला, विशिष्ट सेवा पदक, जनरल ऑफिसर कमांडिंग, जोधपुर सब एरिया, युद्ध के दिग्गजों और कोणार्क कोर के सैनिकों ने  कोणार्क वॉर मेमोरियल में 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत में राष्ट्र के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान, कोणार्क कोर की टुकड़ियों ने 'लोंगेवाला', 'परबत अली', 'चच्रो'और 'खिनसर'की शानदार लड़ाई लड़ी। कोणार्क कोर के सैनिकों की वीरता के परिणामस्वरूप डेजर्ट सेक्टर में पाकिस्तानी क्षेत्र के बड़े इलाकों पर कब्जा हो गया। हमारे सैनिकों के इस वीरतापूर्ण कार्य की गवाही के तौर पर, एक पकड़ा गया पाक शर्मन टैंक जोधपुर मिलिट्री स्टेशन के मुख्य द्वार पर प्रदर्शित है। 16 दिसंबर 1971 को पूर्वी पाकिस्तान में, लेफ्टिनेंट जनरल एएके नियाज़ी के नेतृत्व में 90,000 पाकिस्तानी सैनिकों की टुकड़ी ने अपने हथियार डाल दिए और भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट जनरल जगजीत अरोरा के सामने बिना शर्त आत्मसमर्पण कर दिया। यह किसी भी लड़ाई में सैनिकों का सबसे बड़ा आत्मसमर्पण था और परिणामस्वरूप बांग्लादेश का निर्माण हुआ। पूरे राष्ट्र को भारतीय सशस्त्र बलों  के इस महत्वपूर्ण कार्य पर गर्व है, इस 'शानदार विजय'को मनाने के लिए प्रत्येक वर्ष 16 दिसंबर को विजय दिवस मनाया जाता है।




Popular posts
जैसा पिते है पाणी वैसी होती है वाणी : महन्त विमरसानंद जी महाराज
Image
समाज एक परिवार, कड़ी से कड़ी जोडऩे की जरुरत : पंकज जोशी / अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ द्वारा ब्राह्मण समाज की 21 विभूतियों का प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित
Image
दो दिवसीय बैंकों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल 15 मार्च से, 26 को बीकानेर में धरना एवं प्रदर्शन
Image
जल संरक्षण के महत्व, उपयोगिता और जागरुकता के लिए पोस्टर प्रतियोगिता
Image
बीकानेर आईजी प्रफुल्ल कुमार व एसपी प्रीति चंद्रा की प्रेस-कांफ्रेंस : बैंक और डाकघर लूट की वारदातों का पुलिस ने किया पर्दाफाश
Image