राजस्थान परिषद् का मानव सेवा में अभिनव योगदान




बाल उत्सव संस्था के साथ जरूरतमंदों को बांटी जा रही खाद्य एवं स्वच्छता सामग्री किट 


बेंगलुरु। राजस्थान परिषद् के तत्वावधान में ग़ैर सरकारी संगठन “बाल उत्सव“ ने कोरोनाकाल में ज़रूरतमंदों हेतु उत्तम गुणवत्ता वाली खाद्य सामग्री की व्यवस्था की है, जो कि एक परिवार में एक सप्ताह से भी अधिक भरण पोषण की जा सकती है एवं इसमें 3 माह से भी अधिक उपयोग हेतु स्वच्छता सामग्री की किट शामिल है। जिसकी पैंकिग यहां कुंबलगोड में परिषद् के अध्यक्ष कमल तातेड, परामर्शक उदयसिंह तातेड, नवरतनमल बैद, उपाध्यक्ष रूपचंद पुगलिया, सचिव मनीष तातेड, युथ विंग संयोजक प्रकाश बैद एवं परिषद के सदस्य सुनील नाहटा, सुरेंद्र पुगलिया, नितिन झाबक, गौतम सुराणा एवं सदस्यों द्वारा आरम्भ किया गया। कमल तातेड़ के मुताबिक बाल उत्सव संस्था ने बेंगलुरु के अनेक क्षेत्रों में वितरण की प्रकिया चालू की है। संस्था के प्रधान संचालक एवं सह-संस्थापक रमेश बाला सुंदरम् एवं मैनेजिंग संचालक एवं सह -संस्थापक श्रीमती बीनू वर्मा ने बताया कि यह संस्था वर्ष 2015 से सक्रिय रूप में कार्य कर रही है और इसकी नेपाल में 2015 में आये भूकंप में सहायता सामग्री पहुँचाने से हुई। अभी यह संस्था भारत के अलावा नेपाल, अमेरिका एवं ऑस्ट्रेलिया में अपनी सेवाएँ दे रही है। अध्यक्ष कमल तातेड ने बताया कि सामग्री की पैकिंग एवं रखरखाव में राजस्थान परिषद् के सदस्यों का भरपूर सहयोग मिल रहा है एवं 20 हज़ार वर्ग फ़ीट स्थान में यह कार्य चल रहा है इस मानव सेवा कार्य हेतु स्थान की उपलब्धता नवरतनमल, विवेक, आनंद बैद ने नि:शुल्क कराया है। सचिव मनीष तातेड ने बताया कि यह कार्यक्रम 15 दिनों तक लगातार चलेगा एवं रोज़ाना 2000 से अधिक किट बनाकर प्रतिदिन ज़रूरतमंदों तक पहुँचाने की योजना है।


Popular posts
युवा प्रोफेशनल व्यापारियों ने उठाया हर धर्म, जाति एवं सम्प्रदाय के कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों-जरुरतमंदों के भोजन व्यवस्था का बीड़ा
Image
नगर स्थापना दिवस पर सरिता विमल सुराणा के सहयोग से मास्क वितरित : लोकप्रिय पार्षद दुर्गादास, राजकुमार व्यास ने दी कोरोना गाइड लाइन की हिदायत
Image
"बीकानेर की स्वर्णकला और इसकी वर्तमान स्थिति"
Image
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image