मातृछाया टीम ने जीव दया भक्ति का लिया लाभ 



बेंगलुरु। पर्वाधिराज पर्व पर पर्युषण के दौरान जैन धर्म में जीवदया व साधर्मिक भक्ति का अनन्य महत्व है। इसी कड़ी में प्रतिवर्ष की भांति इस बार भी बेंगलुरु की विभिन्न क्षेत्रों की जैन महिलाओं के अग्रणी संगठन मातृछाया द्वारा व्यापक स्तर पर जीवदया भक्ति का लाभ लिया गया व विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। मातृछाया की मंत्री श्रीमती त्रिशला कोठारी ने बताया कि परस्पर सामूहिक सहयोग से शहर की अनेक गौशालाओं में हरा चारा, घास, सब्जियां, फल व आर्थिक सहयोग राशि भेंट की गई। इनमें निर्मला बाई वीहार धाम चंद्रप्रभु गौशाला, वृषभ कामधेनु गौशाला, कोरमंगला स्थित अखिल कर्नाटक प्राणी सेवा संगठन आदि शामिल थे। साथ ही केंगेरी स्थित कृपा लविंग एनिमल्स में खाद्य सामग्री व दवाओं का वितरण तथा कर्नाटक वेलफेयर एसोसिएशन (ब्लाइंड पीपल) को जरूरत का सामान प्रदान किया व वेलूर की महावीर पशु सेवा केंद्र में गौ सेवा के लिए एक बड़े हॉल के निर्माण हेतु आर्थिक सहयोग प्रदान किया गया। इन कार्यक्रमो में निर्मला दातेवाडिया, ललिता पी नागोरी, कंचन आर जैन, पुष्पाबेन रमेश बाफना, लीला भंसाली, पुष्पा नागौरी आदि ने महत्ती सहयोग किया।


Popular posts
उत्तर-पश्चिम रेलवे कर्मचारी संघ के मंडल अध्यक्ष बने सुनील शादी, अमर सिंह सिहाग मंत्री
Image
उत्तर-पश्चिम रेलवे कर्मचारी संघ का वार्षिक अधिवेशन में बोले अजय कुमार त्रिपाठी ; कर्मचारी हित के विरुद्ध कुछ भी बर्दाश्त नहीं
Image
पुरानी पेंशन स्कीम बहाल, टीटीई स्टाफ को रनिंग अलाऊंस की सुविधा देने सहित 18 सूत्री मांग को लेकर रेलकर्मियों का अधिवेशन 12 को
Image
फ्लोरल हॉस्पिटल में आयोजित ब्लड डोनेशन कैम्प में 101 यूनिट रक्तदान, उत्साहवर्धन करने पहुंचे मंत्री कल्ला सहित अनेक
Image
डूंगर काॅलेज में प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान, पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण
Image