हेल्प इंडिया ने किया देश भर में नशा मुक्ति अभियान का आगाज



हेल्प इंडिया ने किया देश भर में नशा मुक्ति अभियान का आगाज


वर्ल्ड रिकॉर्डेड संस्थान हेल्प इंडिया आत्म निर्भर भारत की परिकल्पना को कर रहा साकार : डॉ पारीक


जयपुर।  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आह्वान पर हेल्प इंडिया ऑनलाइन परिवार ने आगे बढ़कर समाजिक उत्तरदायित्व का निर्वहन करते हुए नशा मुक्ति अभियान को सफल बनाने के लिए नशा मुक्ति कार्यक्रम का शुभारम्भ किया है। राजस्थान के टोंक-निवाई से हेल्प इंडिया के नशा मुक्ति अभियान का आगाज हुआ है। हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान के निदेशक डॉ जगदीश पारीक है, जो कि मेटास्कील एवं न्यूरोसाइंस के मास्टर कोच व एशिया के पहले मेटास्किल न्यूरोसाइंस रिसर्च सेंटर के निदेशक भी है, ने बतौर अतिथि कार्यक्रम में शिरकत की। हेल्प इंडिया परिवार से जुड़ी महिला सदस्याओं ने बढ़-चढ कर हिस्सा लिया। डॉ पारीक ने हेल्प इंडिया के माध्यम से उपस्थित समस्त मातृशक्ति को एडिक्शन फूल स्टॉप जो आयुष मंत्रालय से हर्बल एप्रूव प्रॉडक्ट है, बिना लागत के निशुल्क वितरित किए। साथ ही 20 से ज्यादा व्यक्ति हेल्प इंडिया परिवार से नशा मुक्त बनने के लिए संकल्पित हुए। कार्यक्रम में गैलरी ऑनर किशनलाल जाट, भरत मीणा, रामावतार स्वामी, आमीन अली, नीलेश डांगी व डॉ जगदीश पारीक व ग्राम के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि इस कार्यक्रम के तहत हेल्प इंडिया परिवार पहले महीने में करीब 100 लोगों को नशा मुक्त करके उनको समाज के अच्छे नागरिक बनाने में मदद करेगा। इसके लिए हेल्प इंडिया परिवार उनके नशा मुक्ति पर होने वाले सभी तरह के खर्च को भी वहन करेगा। डॉ पारीक ने बताया कि हाल ही स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर राजस्थान सरकार ने पुरे प्रदेश में नशा मुक्ति अभियान चलाने का निर्णय किया है। डॉ जगदीश पारीक ने कहा कि हेल्प इंडिया ऑनलाइन परिवार हमेशा से सामाजिक कार्यक्रमों में अग्रसर रहा है। हेल्प इंडिया ने पूरे देश में लोगो को स्वास्थ्य के लिए जागरूक करने के लिए मिशन प्रिवेंटिव हेल्थ कार्यक्रम चलाया है। जिसके द्वारा अगले साल 21 जून 2021 तक पूरे देश में 1 करोड़ लोगों को हेल्थ कंसल्टेंट के रूप में डिजिटल ट्रेनिंग देने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें लोगों को डिजिटल ट्रेनिंग के साथ ही सरकारी सर्टिफिकेट और हेल्थ कंसल्टेंट के रूप में काम करने का मौका मिलेगा। हेल्प इंडिया परिवार एक वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर ऑर्गनाइजेशन है जो कि आत्मनिर्भर और सशक्त भारत के निर्माण के लिए 6 क्षेत्रों शिक्षा, रोजगार, प्रिवेंटिव हेल्थ, सामाजिक सहायता, सोशल एंटरप्रोनियरशिप और इ-गवर्नेंस पर कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि हेल्प इंडिया इस समय पूरे देश में मिशन प्रिवेंटिव हेल्थ पर कार्य कर रहा है जिसमें लोगों को बीमारी से पहले ही उसकी जाँच करने और रोकथाम के उपायों के बारे में ट्रेनिंग दी जा रही है। इस ट्रेनिंग की फीस केवल 10 रूपये रखी गयी है, यानी मात्र 10 रूपये में हेल्प इंडिया ऑनलाइन के माध्यम से एनएसडीसी  एंड यूनिवर्सिटी का मान्यता प्राप्त सर्टिफिकेट, पोस्ट ट्रेनिंग सपोर्ट, निःशुल्क प्रोफेशनल व डिजिटल कोर्स, रोजगार पोर्टल, डिजिटल लाइब्रेरी, व्यापारिक विंग में किफायती और डिस्काउंट पर उपलब्ध सामान, ई- गवर्नेंस और डीएमआईटी सेंटर की सुविधा,  बिना लागत के व्यापार के अवसर, कैश बैक ऑफर और प्रत्येक सर्विस में खर्चों से कमाई तथा लगभग सभी ई- सेवाएं ऐप से एक क्लिक में प्राप्त हो सकेगी।


Popular posts
पीएम मोदी के जन्मदिन पर रांका ने 200 मंदिरों में चढ़ाया प्रसाद, लगातार 20 दिन करेंगे सेवा व समर्पण कार्य
Image
रामेश रत्नम का भूमि पूजन शिखर चंद सुराणा के कर कमलों से हुआ
Image
डूंगर काॅलेज में प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान, पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण
Image
बीकानेर बीएसएफ में अध्यक्षा श्रीमती अंबिका राठौड़ की अगुवाई में हर्षोल्लास से मनाया गया बावा स्थापना दिवस
Image
पूर्व कलेक्टर और आज के मुख्य सचिव निरंजन आर्य से बीकानेर को 'महानगरों से कनेक्टिविटी' कराने की मांग
Image