राष्ट्रीय वेबिनार : कृषि विशेषज्ञ 16 को रखेंगे बात, अब तक देशभर से 320 वैज्ञानिकों एवं विद्यार्थियों ने करवाया पंजीकरण


बीकानेर, 12 जून। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय द्वारा ‘कोविड-19 के दौरान उन्नत तकनीक से फसलों के उत्पादन’ विषयक राष्ट्रीय वेबिनार 16 जून को प्रातः 11 बजे से आयोजित किया जाएगा। कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने बताया कि कोरोना के कारण कृषि परिदृष्य पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। किसानों को फसलों के उत्पादन से लेकर विपणन तक में अनेक कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इस ज्वलंत समस्या के समाधान पर चर्चा करने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा वर्चुअल संगोष्ठी आयोजित की जाएगी, जिसमें देश के विभिन्न क्षेत्रों के कृषि विशेषज्ञ अपनी बात रखेंगे। उन्होंने वेबिनार की तैयारियों की समीक्षा की तथा कहा कि इसमें अधिक से अधिक लोगों की भागीदारी हो, ऐसे प्रयास किए जाएं। वेबिनार संयोजक तथा अनुसंधान निदेशक डाॅ. पी. एस. शेखावत ने बताया कि वेबिनार के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह होंगे। केन्द्रीय शुष्क क्षेत्र अनुसंधान संस्थान के निदेशक डाॅ. ओ. पी. यादव कोविड-19 के कारण खेती पर पड़ने वाले प्रभावों, श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय, जोबनेर के पूर्व कुलपति डाॅ. प्रवीण सिंह राठौड़ फसलों के उत्पादन की उन्नत विधियों एवं उत्पादन पश्चात् उनके उचित प्रबंधन पर ई-व्याख्यान देंगे। कृषि विश्वविद्यालय कोटा के छात्र कल्याण अधिष्ठाता तथा बागवानी विशेषज्ञ डाॅ. जितेन्द्र सिंह बागवानी फसलों के उत्पादन की उन्नत विधियों एवं उनके मूल्य संवर्धन तथा भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान नई दिल्ली के प्रधान वैज्ञानिक डाॅ. पी. के. सिंह पाॅली हाउस में सब्जियों के उत्पादन पर अपनी बात रखेंगे। आयोजन सचिव डाॅ. राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि देशभर के 320 वैज्ञानिकों एवं विद्यार्थियों ने वेबिनार के लिए पंजीकरण करवा लिया है।


 



Popular posts
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image
अग्रवाल की बीकानेर शहर के व्यापारियों व उद्योगपतियों से अपील, टीकाकरण वित्तीय सहयोग प्रदान करें
Image
सिद्धि कुमारी ने स्वीकृत किए 1 करोड़, बनेगा ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट : डेढ़ महीने पहले भी स्वीकृत किए थे 1 करोड़
Image
राजा जी फाउण्डेशन ने डिस्पेंसरी में दी इलेक्ट्रोनिक सैनेटाइजन मशीन, बिस्सा भी रहे मौजूद
Image