भारतीय रेलवे पर उत्तर पश्चिम रेलवे का प्रथम स्थान, लोडिंग एवं समयपालनता में उत्कृष्ट प्रदर्शन





CK NEWS/CHHOTIKASHI-JAIPUR उत्तर पश्चिम रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में सितम्बर माह तक 13.36 मिलियन टन माल लोड करके विगत वर्ष की इसी अवधि में किये गये लोडिंग 8.53 मिलियन टन से 56%  से अधिक वृद्धि दर प्राप्त कर भारतीय रेेलवे पर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। उत्तर पश्चिम रेलवे पर सीमेंट, क्लिंकर, खाद्यान्न, पेट्रोलियम, कन्टेनर सहित अन्य प्रमुख कमोडिटी का परिवहन किया जाता है। इसी के साथ उत्तर पश्चिम रेलवे ने इस वित्तीय वर्ष में सितम्बर माह तक समयपालनता ( Punctuality) 98.66% प्राप्त की है, जो कि समस्त रेलों मे सर्वाधिक है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2021-22 में सितम्बर माह तक 13.36 मिलियन टन का प्रारंभिक लदान कर 1541.69 करोड़ का राजस्व अर्जित किया है, जो 2020-21 की इसी अवधि में 8.5 मीट्रिक टन लदान से प्राप्त राजस्व 999.4 करोड़ से क्रमशः माल लदान में 56.62ः एवं राजस्व में 54.26% अधिक है। उल्लेखनीय है कि रेलवे बोर्ड द्वारा उत्तर पश्चिम रेलवे के विगत वर्ष के माल लदान के प्रदर्षन को देखते हुये इस वर्ष अधिक लदान का लक्ष्य प्रदान किया गया है। उत्तर पष्चिम रेलवे ने वर्ष 2020-21 में 22.24 मिलियन टन माल लदान किया तथा इस वित्तीय वर्ष में रेलवे बोर्ड द्वारा 26.50 मिलियन टन का लक्ष्य प्रदान किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे ने मेल/एक्सप्रेस की सितम्बर माह तक समयपालनता (Punctuality) 98.66% प्राप्त की है, जो भारतीय रेलवे के समस्त रेलों में सर्वाधिक है। पिछले वर्ष की इसी अवधि में भी उत्तर पश्चिम रेलवे समयपालनता में प्रथम स्थान पर था। 

CPRO लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बताया कि उत्तर पश्चिम रेलवे कि यह उपलब्धि महाप्रबन्धक विजय शर्मा के कुशल निर्देशन एवं प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबन्धक रवीन्द्र गोयल के मार्गदर्शन से सम्भव हो पाई है। उत्तर पश्चिम रेलवे पर लदान आय बढ़ाने के लिए नवीन प्रयासों के तहत खेमली,  बांगड़ ग्राम, अनूपगढ़, अलवर, गोटन, कनकपुरा, थेयात हमीरा,  भगत की कोठी, गोटन स्टेशनों पर नई मदों की लोडिंग प्रारंभ की गई है। उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा अपनी सर्वांगीण क्षमता और प्रदर्शन में सुधार करके यह उपलब्धि प्राप्त की है। उल्लेखनीय है कि रेलवे माल यातायात को अधिक आकर्षक बनाने के लिए रेलवे कई रियायतें  और छूट भी दे रही है। जोन और डिवीजनों में व्यवसाय विकास इकाइयों (BDU) को मजबूत बनाने, उद्योगों और लॉजिस्टिक सेवाएं देने वाले ग्राहकों से निरंतर संवाद और तेज गति आदि से भारतीय रेल का माल ढुलाई तन्त्र काफी तेजी से विकसित हो रहा है।

Popular posts
दरबार गढ़ पोशिना बाघेला जागीर के कुंवर हरेंद्रपाल सिंह ने देखा जूनागढ़, मां करणी के दर्शन कर हो गए इम्प्रेस....
Image
केंद्रीय मंत्री अर्जुन की घोषणा, बीकानेर में प्रस्तावित सांईस सेन्टर रक्षा वैज्ञानिक रहे डॉ एच पी व्यास के नाम पर होगा
Image
श्रद्धा पूर्वक करें मां की भक्ति, मिलेगा सुख-समृद्धि और शक्ति : आचार्यश्री श्रीनिवास श्रीमाली / श्री सिद्धेश्वर तीर्थ तिरुपति में श्री नवरात्रि महामहोत्सव का विसर्जन के साथ समापन
Image
मेहाई मेडिकल द्वारा आयोजित कैम्प में डॉ योगेश देंगे अपनी निःशुल्क सेवा और मात्र 50 रुपये में होगी मधुमेह के HBA1C जांच
Image
ब्रम्हर्षि आश्रम तिरुपति में महाचंडी महायज्ञ के साथ श्रीनवरात्रि महामहोत्सव संपन्न, जूम ऑनलाइन पर जुड़े देश और दुनिया के अनेक गुरुभक्त
Image