बीकानेर के ऐतिहासिक वैष्णोधाम में माता स्वरुप 51 कन्याओं का पूजन बुधवार को





सीके न्यूज। छोटीकाशी। बीकानेर। संभाग मुख्यालय के जयपुर रोड़ स्थित ऐतिहासिक वैष्णोधाम में बुधवार को नवरात्रि के मौके पर माता स्वरुप 51 कन्याओं का पूजन सुबह सवा ग्यारह बजे किया जाएगा। श्री भगवती मंडल सेवा संस्थान ट्रस्ट के अध्यक्ष सुरेश खिवाणी, उपाध्यक्ष गौतमलाल खिवाणी ने संयुक्त रुप से यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नवरात्रा अवसर पर पूरे वैष्णोधाम परिसर को रंग-बिरंगी रोशनी से सजाया हुआ है। कन्या पूजन की व्यवस्थाओं का जिम्मा ट्रस्टी केशवलाल रहेजा, हीरालाल पारीक, राकेश भाटिया को सौंपा गया है। मंदिर ट्रस्ट से जुड़े सुनील शादी ने बताया कि यहां प्रतिदिन दिनेश शास्त्री, अमित पांडे, राजू व्यास द्वारा दुर्गा सप्तशती के पाठ किए जा रहे हैं।  ने बताया कि दोनों समय सुबह और शाम को पूजा, महाआरती की जा रही है साथ ही राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन की पालना की जा रही है। यहां दर्शन करने आने वाले श्रद्धालूओं के हेंड सैनेटाइज करना, दर्शन करने आने वालों को मास्क पहनने की हिदायत दी जा रही है। उन्होंने बताया कि एक ही जगह पर भीड़ एकत्रित नहीं होने दी जा रही है। बुधवार को कन्या पूजन पश्चात् महाप्रसादी का आयोजन होगा। उधर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष गौतमलाल खिवाणी ने बताया कि वैष्णोधाम परिसर में सिंहद्वार, हनुमानजी, त्रिकाल भैरु, गणेशजी की प्रतिमा, खाटूश्याम मंदिर, माता का पुराना मंदिर, शिव परिवार विराजित है। साथ ही साथ गर्भ गुफा भी बनायी है जो श्रद्धालूओं के लिए आकर्षण का केंद्र है। 

Popular posts
दरबार गढ़ पोशिना बाघेला जागीर के कुंवर हरेंद्रपाल सिंह ने देखा जूनागढ़, मां करणी के दर्शन कर हो गए इम्प्रेस....
Image
केंद्रीय मंत्री अर्जुन की घोषणा, बीकानेर में प्रस्तावित सांईस सेन्टर रक्षा वैज्ञानिक रहे डॉ एच पी व्यास के नाम पर होगा
Image
श्रद्धा पूर्वक करें मां की भक्ति, मिलेगा सुख-समृद्धि और शक्ति : आचार्यश्री श्रीनिवास श्रीमाली / श्री सिद्धेश्वर तीर्थ तिरुपति में श्री नवरात्रि महामहोत्सव का विसर्जन के साथ समापन
Image
मेहाई मेडिकल द्वारा आयोजित कैम्प में डॉ योगेश देंगे अपनी निःशुल्क सेवा और मात्र 50 रुपये में होगी मधुमेह के HBA1C जांच
Image
ब्रम्हर्षि आश्रम तिरुपति में महाचंडी महायज्ञ के साथ श्रीनवरात्रि महामहोत्सव संपन्न, जूम ऑनलाइन पर जुड़े देश और दुनिया के अनेक गुरुभक्त
Image