डूंगर काॅलेज में प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान, पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण







CK NEWS/CHHOTIKASHI बीकानेर 17 सितम्बर। सम्भाग के सबसे बड़े राजकीय डूंगर महाविद्यालय में शुक्रवार को प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान किया गया।  प्राचार्य डाॅ. जी.पी.सिंह ने इस अवसर पर प्रो. कुलश्रेष्ठ के शिक्षा एवं चिकित्सा के क्षेत्र में किये गये योगदान का स्मरण करते हुए युवाओं से इनसे प्रेरणा लेने का आह्वान किया।  डाॅ. सिंह ने कहा कि प्रो. कुलश्रेष्ठ उम्रदराज होते हुए भी निरन्तर शिक्षा से जुड़े रहे हैं एवं विद्यार्थियों के ज्ञानवर्द्धन में सहयोग करते हैं जो कि विषेष रूप से अनुकरणीय है।  इस अवसर पर प्रो. कुलश्रेष्ठ द्वारा लिखित पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण किया गया। पुस्तक में विद्यार्थियों को जीवन में शिक्षा के साथ साथ आध्यात्मिक होने पर भी बल दिया गया है। सहायक निदेशक डाॅ. राकेश हर्ष ने अपने उद्बोधन में संकाय सदस्यों एवं विद्यार्थियों को प्रो. कुलश्रेष्ठ की जीवनी से प्रेरणा लेने की अपील की।  डाॅ. हर्ष ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि गुरूजनों के इस प्रकार के सम्मान से शिक्षक समाज में एक नई ऊर्जा का संचार होता है। डाॅ. हर्ष ने बताया कि कार्यक्रम में प्रो. कुलश्रेष्ठ को पर्यावरण का सन्देश देते सदाबहार का पौधा स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट किया गया। इस अवसर पर प्राणीशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. राजेन्द्र पुरोहित ने विषय प्रवर्तन करते हुए कहा कि प्रो. कुलश्रेष्ठ का डूंगर काॅलेज को विशेष योगदान रहा है तथा काॅलेज के अतिरिक्त उन्होनें दयानन्द पब्लिक स्कूल के निदेशक का पद को भी अत्यन्त बेहतरीन ढंग से निभाया था। डाॅ. पुरोहित ने कहा कि प्रो. कुलश्रेष्ठ का होमियोपैथी के क्षेत्र में भी रोगियों के इलाज में उल्लेखनीय योगदान रहा है। विशिष्ट अतिथि शिक्षाविद एवं समाजसेविका श्रीमती अल्का डाॅली पाठक ने इस अवसर पर डूंगर महाविद्यालय के बदले हुए रूप की सराहना करते हुए कार्यक्रम की महत्ता पर प्रकाश डाला।  श्रीमती पाठक ने कहा कि विद्यालयों एवं महाविद्यालयों के षिक्षकों में तालमेल होने से विद्यार्थियों को संस्कारवान बनने में अत्यधिक सहयोग मिल सकेगा। डाॅ. विजय कुमार ऐरी ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज के युग में प्रो. कुलश्रेष्ठ जैसे शिक्षक दुर्लभतम हैं जिन्होनें सदैव विद्यार्थियों को मानवीय मूल्यों का अपनाने में अपना योगदान दिया है। स्टाफ क्लब के सचिव डाॅ. कैलाश स्वामी ने सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस  अवसर पर डाॅ. ए.के.यादव, डाॅ. इन्द्र सिंह राजपुरोहित, डाॅ. सतीश गुप्ता, डाॅ. सरिता स्वामी, डाॅ. अनिला पुरोहित, डाॅ. सुषमा जैन, डाॅ. विक्रमजीत, डाॅ. श्याम सुन्दर ज्याणी सहित बड़ी संख्या में संकाय सदस्य उपस्थित रहे।
Popular posts
दरबार गढ़ पोशिना बाघेला जागीर के कुंवर हरेंद्रपाल सिंह ने देखा जूनागढ़, मां करणी के दर्शन कर हो गए इम्प्रेस....
Image
केंद्रीय मंत्री अर्जुन की घोषणा, बीकानेर में प्रस्तावित सांईस सेन्टर रक्षा वैज्ञानिक रहे डॉ एच पी व्यास के नाम पर होगा
Image
श्रद्धा पूर्वक करें मां की भक्ति, मिलेगा सुख-समृद्धि और शक्ति : आचार्यश्री श्रीनिवास श्रीमाली / श्री सिद्धेश्वर तीर्थ तिरुपति में श्री नवरात्रि महामहोत्सव का विसर्जन के साथ समापन
Image
मेहाई मेडिकल द्वारा आयोजित कैम्प में डॉ योगेश देंगे अपनी निःशुल्क सेवा और मात्र 50 रुपये में होगी मधुमेह के HBA1C जांच
Image
ब्रम्हर्षि आश्रम तिरुपति में महाचंडी महायज्ञ के साथ श्रीनवरात्रि महामहोत्सव संपन्न, जूम ऑनलाइन पर जुड़े देश और दुनिया के अनेक गुरुभक्त
Image