हजारों रोगियों को अच्छी स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने से मिलती संतुष्टि : डॉ पीडी. पाटिल / सूर्यदत्ता ग्रुप द्वारा पहला 'सूर्यदत्ता सेवा-रत्न राष्ट्रीय पुरस्कार-2021' प्रदान







पुणे। "शांत, संयमित रहकर दूरदर्शी और सामाजिक रूप से जागरूक डॉ पीडी. पाटिल का निस्वार्थ और सेवाभावी दृष्टिकोण के साथ किया गया समाज कार्य आदर्शवत है। शिक्षा, साहित्य, स्वास्थ्य और सामाजिक क्षेत्र के लिए उनका कार्य प्रेरणादायक है। यह कहा, पिंपरी-चिंचवड़ के पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने। वे यहां सुर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट की ओर से सूर्यदत्ता एज्यु-सोशियो कनेक्ट इनिशिएटिव्ह के अंतर्गत उल्लेखनीय वैद्यकीय और सामाजिक कार्य के लिए अभिमत विद्यापीठ के कुलपती डॉ पीडी. पाटील को 'सुर्यदत्ता सेवा-रत्न राष्ट्रीय पुरस्कार-2021' प्रदान करने के अवसर पर बोल रहे थे।

इस दौरान सूर्यदत्ता के फाउंडर चेयरमैन डॉ. संजय चोरडिया ने डॉ पीडी. पाटील के नाम से मेरिट स्कॉलरशिप देने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने कहा कि पिंपरी के डॉ डीवाय. पाटील विद्यापीठ में विभिन्न चिकित्सा विषयों में टॉपर आये छात्र को पदवी प्रदान समारोह के दिन 11,000 रुपये का नकद पुरस्कार और स्वर्ण पदक प्रदान किया जाएगा। 

पिंपरी के डॉ डीवाय. पाटील सभागृह में संपन्न हुए कार्यक्रम में डॉ डीवाय. पाटील विद्यापीठ के  प्र-कुलगुरू डॉ भाग्यश्री पाटील, विश्वस्त संचालक डॉ. स्मिता जाधव, कुलगुरू डॉ. एनजे. पवार, सुर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. संजय चोरडिया, उपाध्यक्षा और सचिव सुषमा चोरडिया, सलाहकार सचिन इटकर, संचालक सुनील धाडीवाल, मिलीना राजे उपस्थित थे। कोरोना के सभी नियमों का पालन करके डॉ डीवाय. पाटील विद्यापीठ के कुलगुरू, कुलसचिव, अधिष्ठाता की भी कार्यक्रम में रही। फेसबुक और युट्युब पर इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण प्रसारित किया गया। इस दौरान आईपीएस कृष्ण प्रकाश ने कहा, "कोरोना के काल में डॉ पीडी. पाटील और उनकी टीम द्वारा किया कार्य सराहनीय है। उनकी दृढ़ता, कड़ी मेहनत, इच्छाशक्ति, हर काम में समर्पण का भाव प्रभावशाली है, ऐसे सेवाभावी व्यक्ति का सूर्यदत्ता परिवार ने सम्मान किया और इस पुरस्कार प्रदान करने के लिए मुझे बुलाया इसलिए मैं शुक्रगुजार हूँ। उन्होंने कहा कि निश्चित ही इससे 'सूर्यदत्ता' का भी सम्मान बढ़ा है। डॉ डीवाय. पाटील व सूर्यदत्ता जैसी संस्थाएं अच्छा काम कर रही हैं।" डॉ. पीडी. पाटील ने कहा, पिछले एक साल में कोरोना संकट में हमारे सभी डॉक्टरों, नर्सों, चिकित्सा कर्मचारियों की कड़ी मेहनत ने हजारों रोगियों का अच्छा इलाज किया है, इसकी ख़ुशी होती है। अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधा हमारे सभी हॉस्पिटल में उपलब्ध है। राज्य के विभिन्न हिस्सों से, विभिन्न सामाजिक स्तर के मरीज यहां इलाज करके ठीक हुए हैं। उन्हें भोजन, स्वच्छता, सकारात्मक रहने के लिए मार्गदर्शन के रूप में ऐसी कई चीजें प्रदान की जाती हैं। यह पुरस्कार केवल मेरे लिए नहीं, बल्कि हमारे सभी मेडिकल स्टाफ और संस्था के लिए है। उन्होंने बताया कि अस्पताल 2006 में बनाया गया था और आज भी इसका इस्तेमाल हो रहा है। अच्छे कर्म करने के लिए मन को प्रेरित करना, कई लोगों के चेहरे पर की खुशी कड़ी मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित करती है। वे बोले,  मुझे अपने सभी सहयोगियों पर गर्व है जो कड़ी मेहनत करते हैं।

डॉ. संजय चोरडिया ने कहा कि  डॉ. पीडी. पाटील ने वैद्यकीय और सामाजिक क्षेत्र में योगदान देते हुए देश -विदेश के कई विद्यार्थियों को वैद्यकीय ज्ञान दिया है। इस साल में कोरोना संकट में गरीबों और जरूरतमंदों को निस्वार्थ, तत्काल चिकित्सा सुविधा प्रदान करने की उनकी पहल महत्वपूर्ण है। कई अन्य व्यक्ति, संस्था और निजी-सरकारी अस्पताल ऐसा कार्य कर रहे हैं। ऐसे कठिन समय में अच्छा कार्य करने वाले व्यक्तियों को हर साल यह पुरस्कार दिया जायेगा। ऐसे सेवाभावी व्यक्तित्व डॉ पीडी. पाटील को सम्मानित करते हुए हमें खुशी हो रही है। सचिन इटकर ने धन्यवाद ज्ञापित किया। सायली देशपांडे ने संचालन किया। डॉ. एनजे. पवार ने प्रास्ताविक किया।

Popular posts
विश्व में सबसे ज्यादा सड़क सुरक्षा पर दोहे लिखकर बीकानेर के मेवासिंह ने बनाया रिकॉर्ड !
Image
बीएसएफ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम दास 31 वर्ष की सेवा के उपरांत सेवानिवृत्त, डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने दी शुभकामनाएं
Image
बेटिकट यात्रियों, नियम को नहीं मानने वालों से बीकानेर मंडल ने वसूला 1 करोड़ रुपए से ज्यादा राजस्व : रविंद्र चौहान पहले व आशीष व्यास दूसरे नंबर पर
Image
राजकीय डूंगर महाविद्यालय में वाहनों के प्रदूषण जाँच के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक द्वारा शिविर आयोजित
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने हेतु एनआरसीसी के महत्ती प्रयास, रोशनी युक्त सौन्दर्यकरण बेल आकृति लोकार्पित
Image