कोरोना आपदा से रोजी-रोटी का संकट, पुकार रहे हैं तीन जिलों के 200 गांवों के लोक कलाकार....




बीकानेर, 23 मई (सीके न्यूज/छोटीकाशी)। राजस्थान में बीकानेर, जैसलमेर और बाड़मेर जिले के आस-पास के 200 गांवों में रहने वाले लोक कलाकारों के पास कोरोना आपदा में रोजी-रोटी का संकट गहरा गया है। हालांकि एक छोटे से प्रयास के तहत बीकानेर की लोकायन संस्थान और राजस्थान कबीर यात्रा ने 75 घरों को सहायता मुहैया करायी है लेकिन अभी भी बहुत सारे घर बाकी है। संस्थान के गोपाल सिंह ने इसके लिए सोशियल मीडिया पर 'राजस्थान फोल्क आर्टिस्ट्स आर कॉलिंग यू-डोनेट नाऊ' कैम्पेन चलाया है। उन्होंने बताया कि उनके पास लोक कलाकारों के लगातार फोन और संदेश आ रहे हैं। बहुत से परिवारों को राशन और दवाईयों की जरुरत है। पांच दिनों में हमने जैसलमेर के बरणा, खूरी, छतांगढ़, देदडियार, दव गांवों में 75 से अधिक लोक कलाकारों को राशन सामग्री वितरित कर दी है। इसके अलावा जैसलमेर के कलाकार कॉलोनी, बीकानेर के अक्कासर, तेजरासर गांवों में भी लोक कलाकारों तक पहुंचने की कोशिश की है। गोपाल सिंह ने बताया कि अभी भी बहुत से गांव बाकी है जहां तक हमें पहुंचना है मगर यह बिना दानदाताओं, भामाशाहों के सहयोग के संभव नहीं हो पाएगा। उन्होंने आह्वान किया कि आगे आइये और मदद कीजिये।

Popular posts
विश्व में सबसे ज्यादा सड़क सुरक्षा पर दोहे लिखकर बीकानेर के मेवासिंह ने बनाया रिकॉर्ड !
Image
बीएसएफ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम दास 31 वर्ष की सेवा के उपरांत सेवानिवृत्त, डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने दी शुभकामनाएं
Image
बेटिकट यात्रियों, नियम को नहीं मानने वालों से बीकानेर मंडल ने वसूला 1 करोड़ रुपए से ज्यादा राजस्व : रविंद्र चौहान पहले व आशीष व्यास दूसरे नंबर पर
Image
राजकीय डूंगर महाविद्यालय में वाहनों के प्रदूषण जाँच के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक द्वारा शिविर आयोजित
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने हेतु एनआरसीसी के महत्ती प्रयास, रोशनी युक्त सौन्दर्यकरण बेल आकृति लोकार्पित
Image