डॉ. मेघना शर्मा ने रिसोर्स पर्सन की भूमिका में दिया उद्बोधन, राष्ट्रीय वेबीनार में चर्चा




बीकानेर, 23 अप्रेल (सीके न्यूज/छोटीकाशी)। अहमदपुर की लोकायत एजूकेशन सोसायटी द्वारा संचालित चकूर, लातूर, महाराष्ट्र के भाई किशनराव देशमुख महाविद्यालय के वूमन सेल और आईक्यूएसी द्वारा महिला सशक्तिकरण विषयक आयोजित ऑनलाइन राष्ट्रीय वेबीनार में शुक्रवार को राजस्थान में बीकानेर की महाराजा गंगासिंह यूनिवर्सिटी की डॉ. मेघना शर्मा ने पहले सत्र में रिसोर्स पर्सन की भूमिका में अपना उद्बोधन दिया। मेघना ने आधुनिक भारतीय इतिहास में दयानंद सरस्वती के महिला उत्थान संबंधी विचारों पर बात रखते हुए कहा कि महर्षि दयानंद ने ऐसे समय में महिला जागरण की बात कही जब समाज बाल विवाह, पर्दा प्रथा, विधवा विवाह जैसी कुरीतियों के पाशों में गहरे तक जकड़ा हुआ था। राष्ट्रीय वेबीनार के उद्घाटन सत्र में डॉ मेघना ने प्राचीन इतिहास के साथ दयानंद युग तक व वर्तमान काल के बीच एक तुलनात्मक अध्ययन प्रस्तुत किया। द्वितीय सत्र में विक्रम विश्वविद्यालय, इंदौर की पूर्व डीन प्रो गीता नायक द्वारा साहित्य में महिला सशक्तिकरण पर अपना उद्बोधन प्रस्तुत किया गया। इससे पूर्व लोकायत एजुकेशन सोसायटी की अध्यक्ष सीमाताई भानुसाहेब देशमुख, सचिव एडवोकेट पी.डी. कदम ने प्रारंभिक टिप्पणियां रखीं। मुख्य आयोजक डॉ एस. के. धोंडगे द्वारा स्वागत भाषण पढ़ा गया। संगोष्ठी का संचालन बबीता मानखेड़कर द्वारा किया गया। अंत में प्रतिभागियों के लिए प्रश्न उत्तर सत्र में दोनों रिसोर्स पर्सन्स ने समस्त जिज्ञासाओं को शांत किया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ श्याम जाधव द्वारा दिया गया।

Popular posts
श्री विश्वशांति एवं महालक्ष्मी कुबेर अनुष्ठान में लिये गये संकल्प का फल राष्ट्रपति से लेकर हर आम इंसान को मिलेगा : राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज
Image
15 हजार 119 व्यापारियों ने लिया वाणिज्यिक कर विभाग की एमनेस्टी स्कीम का लाभ, 42 करोड़ रुपये माफ : हरि सिंह चारण
Image
प्रयागराज-जयपुर एक्सटेंशन बीकानेर ट्रेन को जल्द चलाया जाए, पुरी ट्रेन के खाली रेक को भेजें हरिद्वार
Image
नवाचार के साथ संयुक्त शपथग्रहण समारोह, नारायण चोपड़ा ने श्रावक निष्ठा पत्र का सभी को वाचन करवाया
Image
अभिमंत्रित सिद्ध होने वाले 5 हजार कलश जिस घर में पहुंचेंगे वहां सम्पन्नता, ऐश्वर्य, सुख व समृद्धि का होगा वास
Image