परमात्मा की इबादत योग्य गुरु से ही संभव है : राष्ट्रसंत डॉ वसंत विजय जी महाराज साहेब / हाथी घोड़ा व ऊंटों सहित पालकी यात्रा में गूंजा जयकारा गुरुदेव का














पूज्य गुरुदेवश्री के 52 वें अवतरण दिवस पर त्रिदिवसीय सिद्धि साधना शिविर का आगाज


कृष्णगिरी। तमिलनाडु प्रांत के विश्वविख्यात श्रीपार्श्व पद्मावती शक्तिपीठ धाम के पीठाधीपति राष्ट्रसंत, यतिवर्य, सर्वधर्म दिवाकर, मंत्र शिरोमणि, सिद्धि सम्राट परम पूज्य गुरुदेव श्रीजी डॉ वसंत विजय जी महाराज साहब के 52 वें अवतरण दिवस पर त्रिदिवसीय श्री पद्मावती सिद्धि साधना शिविर शुक्रवार से प्रारंभ हुआ। इस अवसर पर सुबह भव्य रुप से हाथी, घोड़ा, ऊंट की रथ पालकी यात्रा निकाली गई। पारंपरिक लोक कलाकारों के नृत्य, ढोल नगाड़ों की गूंज के साथ  वरघोड़े के लाभार्थी चेन्नई के केतन जैन ने गुरुदेव श्रीजी को वंदन कर परमात्मा की प्रतिमा लेकर शिरकत की। देश के अनेक राज्यों से एवं विदेशों से बड़ी संख्या में शामिल हुए गुरु भक्तों ने राष्ट्रसंत डॉक्टर वसंत विजय जी महाराज साहेब को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए श्रद्धा के साथ जयकारों का गुंजायमान रथ यात्रा में किया। कार्यक्रम में 80 कमरों एवं अनेक बड़े हॉल युक्त वातानुकूलित धर्मशाला का शुभारंभ भी संत श्रीजी की निश्रा में मैसूरु के कैलाशचंद पिस्ता कुमारी बोहरा परिवार द्वारा फीता खोलकर किया गया। इस अवसर पर श्रमण संघीय संतश्री पंकज मुनिजी, वरुणमुनिजी आदि ठाणा व श्री महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन के पुजारी दिनेश गुरुजी सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु जन कार्यक्रम में शामिल हुए। दोपहर के सत्र में श्री पद्मावती मां पूजन मंत्र आराधना का कार्यक्रम हुआ, जिसमें देश विदेश से कार्यक्रम में भाग लेने आये पंजीकृत श्रद्धालुओं ने पूजा वस्त्रों में भाग लेकर धर्म आध्यात्मिक लाभ लिया। इस दौरान अपने संक्षिप्त वक्तव्य में संत श्रीजी ने कहा कि माता-पिता, संत और गुरु के प्रति सदैव सेवा, भक्ति एवं समर्पण भाव व्यक्ति में होने आवश्यक है। उन्होंने कहा कि ज्ञान जहां से भी सर्वोत्तम प्राप्त हो ले लेना चाहिए। डॉ वसंत विजय जी मसा. ने कहा कि ज्ञान प्राप्त करने में अथवा भक्ति में पंथ परंपरा कतई आड़े नहीं आनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि देव, गुरु और धर्म का प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में महत्व है। इस दौरान संगीतमय प्रस्तुतियों के साथ अनेक भक्ति गीत भी प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम का संचालन नरेंद्र वाणीगोता ने किया। गुरु भक्त संकेश जैन ने बताया कि आगामी दो दिनों तक प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से 5 बजे तक सिद्धि साधना शिविर का आयोजन संत श्रीजी की निश्रा में होगा। इस दौरान देश और विदेश से अनेक ख्यातिप्राप्त टीवी व बॉलीवुड के कलाकार आदि भी संत श्रीजी का आशीर्वाद लेने कृष्णगिरी पहुंच रहे हैं।
Popular posts
श्री विश्वशांति एवं महालक्ष्मी कुबेर अनुष्ठान में लिये गये संकल्प का फल राष्ट्रपति से लेकर हर आम इंसान को मिलेगा : राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज
Image
15 हजार 119 व्यापारियों ने लिया वाणिज्यिक कर विभाग की एमनेस्टी स्कीम का लाभ, 42 करोड़ रुपये माफ : हरि सिंह चारण
Image
प्रयागराज-जयपुर एक्सटेंशन बीकानेर ट्रेन को जल्द चलाया जाए, पुरी ट्रेन के खाली रेक को भेजें हरिद्वार
Image
नवाचार के साथ संयुक्त शपथग्रहण समारोह, नारायण चोपड़ा ने श्रावक निष्ठा पत्र का सभी को वाचन करवाया
Image
अभिमंत्रित सिद्ध होने वाले 5 हजार कलश जिस घर में पहुंचेंगे वहां सम्पन्नता, ऐश्वर्य, सुख व समृद्धि का होगा वास
Image