एनआरसीसी की क्यूआरटी बैठक में बोले डॉ. गहलोत, अनुसंधान कार्यों में राजुवास एवं राज्य पशुपालन विभाग को भी शामिल करे एनआरसीसी





बीकानेर, 11 फरवरी (सीके न्यूज/छोटीकाशी)। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद-राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केन्द्र, बीकानेर [एनआरसीसी] के पंचवर्षीय पुनर्विलोकन दल (क्यूआरटी बैठक) की बैठक गुरुवार को आयोजित की गयी। एनआरसीसी के समिति कक्ष में आयोजित उच्च स्तरीय टीम की इस बैठक में चैयरमैन के रूप में प्रो.(कर्नल) डॉ. ए.के. गहलोत, पूर्व कुलपति, राजस्थान पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, बीकानेर तथा सदस्यों के रूप में केन्द्रीय बकरी अनुसंधान संस्थान, मथुरा के पूर्व निदेशक डॉ. एस.के. अग्रवाल एवं पशु चिकित्सा महाविद्यालय, बीकानेर के भूतपूर्व अधिष्ठाता डॉ. बी.के. बेनीवाल पधारे। केन्द्र निदेशक डॉ.आर्तबन्धु साहू ने सभी समिति सदस्यों का स्वागत किया तथा इस अवसर पर केन्द्र के अधिदेश, उद्देश्य एवं प्रमुख क्षेत्र संबंधी फोल्डर का समिति सदस्यों के कर कमलों द्वारा विमोचन भी किया गया। टीम के सदस्य सचिव के रूप में डॉ. आर.के.सावल, प्रधान वैज्ञानिक एवं केन्द्र के सभी वैज्ञानिकों ने इस बैठक में भाग लिया। टीम ने केन्द्र द्वारा किए जा रहे नूतन अनुसंधानों पर संतोष व्यक्त किया एवं कहा कि इन अनुसंधान कार्यों में राजुवास एवं राज्य पशुपालन विभाग को भी शामिल किया जाए ताकि अनुसंधान का दायरा बढ़ाया जा सके जिससे और भी नए-नए पहलुओं पर अनुसंधान कार्य किए जा सकेंगे। यह समिति अपनी सिफारिशें, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली को सौंपेगी। केन्द्र में आयोजित इस उच्च स्तरीय टीम द्वारा पिछले पांच वर्षों (2012-17) में केन्द्र द्वारा प्राप्त अनुसंधान उपलब्धियों, अभिनव प्रयोग, अनुसंधानों की प्राथिकताएं, केन्द्र को उन्नयन करने, प्रशासनिक व वित्तीय आदि अनेक आवश्यकताओं के सन्दर्भ में गहन समीक्षा की गई। समिति ने वर्तमान में ऊँट पालन व्यवसाय से जुड़ी समस्याओं तथा इन्हें सुलझाने हेतु एनआरसीसी द्वारा यथासंभव सहयोग प्रदान करने तथा भावी अनुसंधान आदि के संबंध में सुझाव भी दिए गए। चर्चा के दौरान समिति ने इस बात पर जोर दिया कि ऊँट पालकों/किसान भाइयों की समाजार्थिक स्तर में प्रभावी सुधार लाने हेतु यह केन्द्र, निजी एजेन्सियों के साथ भी समन्वय स्थापित करते हुए नूतन प्रौद्योगिकी विकसित करे ताकि अनुसंधान कार्यों का पूरा-पूरा लाभ पशु पालकों एवं आम आदमी को मिल सके।

Popular posts
दरबार गढ़ पोशिना बाघेला जागीर के कुंवर हरेंद्रपाल सिंह ने देखा जूनागढ़, मां करणी के दर्शन कर हो गए इम्प्रेस....
Image
केंद्रीय मंत्री अर्जुन की घोषणा, बीकानेर में प्रस्तावित सांईस सेन्टर रक्षा वैज्ञानिक रहे डॉ एच पी व्यास के नाम पर होगा
Image
श्रद्धा पूर्वक करें मां की भक्ति, मिलेगा सुख-समृद्धि और शक्ति : आचार्यश्री श्रीनिवास श्रीमाली / श्री सिद्धेश्वर तीर्थ तिरुपति में श्री नवरात्रि महामहोत्सव का विसर्जन के साथ समापन
Image
मेहाई मेडिकल द्वारा आयोजित कैम्प में डॉ योगेश देंगे अपनी निःशुल्क सेवा और मात्र 50 रुपये में होगी मधुमेह के HBA1C जांच
Image
ब्रम्हर्षि आश्रम तिरुपति में महाचंडी महायज्ञ के साथ श्रीनवरात्रि महामहोत्सव संपन्न, जूम ऑनलाइन पर जुड़े देश और दुनिया के अनेक गुरुभक्त
Image