6 प्रार्थना पत्रों का निस्तारण कर 5 लाख 40 हजार रुपए का प्रतिकर स्वीकृत




बीकानेर, 29 जनवरी (सीके मीडिया/छोटीकाशी)। राजस्थान में बीकानेर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की शुक्रवार को जिला एवम् सेशन न्यायाधीश मदन लाल भाटी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव पवन कुमार अग्रवाल अपर जिला एवम् सेशन न्यायाधीश ने बताया कि बैठक में पीडि़त प्रतिकर स्कीम-2011 के तहत 6 प्रार्थना पत्रों का निस्तारण किया जाकर कुल 5,40,000/-(पंाच लाख चालीस हजार) रूपये की प्रतिकर राशि स्वीकृत की गयी। जिसमें से हाल ही में पुलिस थाना नया शहर में दर्ज 6 वर्षीय बालिका से दुष्कर्म के मामले में 2,50,000/- (दो लाख पचार हजार) रूपये की प्रतिकर राशि एवम् पुलिस थाना बज्जू में दर्ज 14 वर्षीय बालक से कुकर्म के मामले में 2,50,000/- (दो लाख पचार हजार) रूपये की प्रतिकर राशि स्वीकृत की गयी। उल्लेखनीय है कि उक्त दोनों प्रकरणों में पोक्सो न्यायालय के विशिष्ठ न्यायाधीश देवेन्द्र सिंह नागर द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बीकानेर को प्रकरण में पीडित बालकों को अन्तरिम प्रतिकर दिलवाये जाने के निर्देश दिये गये थे। बैठक में नि:शुल्क विधिक सहायता के 5 प्रार्थना पत्रों को स्वीकृत किया जाकर नि:शुल्क अधिवक्ता नियुक्त किया गया तथा अण्डर ट्राईल रिव्यू कमेटी की बैठक भी आयोजित की गयी। बैठक में राजेन्द्र कुमार शर्मा पारिवारिक न्यायाधीश सं. 02, श्रीमती आशा कुमारी पारिवारिक न्यायाधीश सं. 03, शंकर लाल गुप्ता न्यायाधीश मोटर वाहन दुर्घटना दावा अधिकरण, राहुल चौधरी लिंक मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, अरूण प्रकाश शर्मा अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर, शैलेन्द्र सिंह इन्दौलिया आईपीएस अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर, लोक अभियोजक कमल नारायण पुरोहित, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय कुमार पुरोहित, परमजीत सिंह सिद्धु अधीक्षक, केन्द्रीय कारागृह भी उपस्थित थे।

Popular posts
राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज साहेब का अवतरण दिवस 5 मार्च को, त्रिदिवसीय श्री पद्मावती कृपा प्राप्ति आराधना-साधना महोत्सव का होगा आगाज
Image
NWR रेलवे जीएम आनंद प्रकाश का बीकानेर मंडल पर वार्षिक दौरा, डीआरएम DRM संजय श्रीवास्तव सहित अनेक मौजूद
Image
नोखा में श्री बालाजी हॉस्पिटल का शुभारम्भ, रामेश्वरानंदजी व अजय पुरोहित रहे बतौर अतिथि मौजूद
Image
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर बोले डॉ. पी.एल.सरोज ; विज्ञान एवं कृषि विषयों द्वारा बन सकते हैं वैज्ञानिक
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र देगा ऊंटपालकों को ट्रेनिंग
Image