सहृदयता की मिसाल पेश की हर्ष ने, हर्षित भाव से गुरुकुल को दिया नि:शुल्क भवन


सहृदयता की मिसाल पेश की हर्ष ने, हर्षित भाव से गुरुकुल को दिया नि:शुल्क भवन


जयपुर। नचिकेता गुरुकुल के अध्यक्ष नरेंद्र कुमार हर्ष ने सदाशयता व सहृदयता की मिसाल पेश करते हुए गुरुकुल में अध्ययनरत होनहार प्रतिभाओं के लिए मानसरोवर में अपनी भूमि बिना किराये उपलब्ध करवायी है। गुरुकुल वर्तमान समय में मानसरोवर में ही एक किराया के भवन में संचालित किया जा रहा था और इसके लिए किराए के रुप में प्रतिमाह 35 हजार रुपए प्रतिमाह देने पड़ रहे थे। चूंकि विद्यार्थियों की संख्या भी इस वर्ष दोगुनी हो जाने से किराए का स्थान छोटा पड़ रहा था। इस स्थिति को देखते हुए ही नरेंद्र हर्ष ने अपने स्वयं का परिसर नि:शुल्क उपलब्ध करवाया। यह गुरुकुल भामाशाहों के आर्थिक सहयोग से संचालित किया जाता है और इसमें सभी समाज के उन प्रतिभाशाली बच्चों को अध्ययन करवाया जा रहा है जो कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण उच्च अध्ययन नहीं कर पा रहे थे। इन प्रतिभाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग तक की सुविधा नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है। गोभक्त नरेंद्र हर्ष समाजसेवा के क्षेत्र में लम्बे अर्से से जुटे हुए हैं। हर्ष पवालिया ग्राम में 125 से ज्यादा गायें रखकर गौशाला का संचालन अपने खर्च पर पिछले 7 वर्षों से कर रहे हैं। इनमें वे गायें शामिल है जिन्हें लोग सड़कों पर आवारा छोड़ गए। इसी प्रकार अनेक मंदिर व सामाजिक संस्थानों में खुले दिल से आर्थिक सहयोग देने वाले नरेंद्र हर्ष ब्राम्हण समाज के वैश्विक संगठन विप्र फाउण्डेशन राजस्थान एवं विश्वस्तरीय हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान में कोषाध्यक्ष का दायित्व निभा रहे हैं। कई अन्य सामाजिक संस्थाओं से भी वे जुड़े हुए हैं। समाजसेवी, सुसफल व्यवसायी एवं धर्मपरायण नरेंद्र हर्ष का यह कदम भी सेवा और समर्पण के लिए अभिनंदनिय है।


Popular posts
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image
अग्रवाल की बीकानेर शहर के व्यापारियों व उद्योगपतियों से अपील, टीकाकरण वित्तीय सहयोग प्रदान करें
Image
सिद्धि कुमारी ने स्वीकृत किए 1 करोड़, बनेगा ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट : डेढ़ महीने पहले भी स्वीकृत किए थे 1 करोड़
Image
राजा जी फाउण्डेशन ने डिस्पेंसरी में दी इलेक्ट्रोनिक सैनेटाइजन मशीन, बिस्सा भी रहे मौजूद
Image