नए फूड कानून से बचाएं अन्यथा होगा करोड़ों का नुकसान, केंद्रीय मंत्री अर्जुन को चिट्ठी



बीकानेर, 27 अक्टूबर (छोटीकाशी डॉट पेज)। राजस्थान में बीकानेर के प्रसिद्ध पापड़, भुजिया, रसगुल्ला, बड़ी, कचौरी नमकीन उद्योग को एक नवंबर 2020 से प्रोपराइटरी फूड के अंतर्गत लाकर उसके पुराने लाइसेंस निरस्त करके नए लाइसेंस बनाने का प्रावधान किया गया है। जहां यह प्रक्रिया बहुत ही जटिल खर्चीली एवं छोटे उद्योगों एवं ठेला वाले के लिए असंभव है क्योंकि उनका दिल्ली से लाइसेंस बनवा कर कार्य करना बहुत ही मुश्किल है इस कारण लाखों की संख्या में यह छोटे कारोबारी बेरोजगार हो जाएंगे इनके साथ करोना की मार कोड में खाज का काम करेगी। साथ ही करोड़ों रुपए का नुकसान भी होगा। बीकानेर पापड़ भुजिया मैन्यूफैक्चरिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष वेदप्रकाश अग्रवाल ने केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल को चिट्ठी लिखकर नए फूड कानून से बचाने की मांग की है। उन्होंने बताया कि यहां पूरे बीकानेर में ही इन छोटे बड़े उद्योगपतियों के पास करोड़ों का पैकेजिंग मैटेरियल प्रिंट हुआ पड़ा है क्योंकि आजकल हर खाद्य एवं पेय पदार्थ पर एफएसएसएआई का नंबर लिखा अनिवार्य है। लाइसेंस दिल्ली से बनने पर उसका एफएसएसएआई नंबर बदल जाएगा इस कारण उसके पास पड़ा करोड़ों का पैकेजिंग मैटेरियल किसी भी काम का नहीं रहेगा। यह प्रति उद्योग के साथ देश का भी नुकसान होगा। 


Popular posts
राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज साहेब का अवतरण दिवस 5 मार्च को, त्रिदिवसीय श्री पद्मावती कृपा प्राप्ति आराधना-साधना महोत्सव का होगा आगाज
Image
पीबीएम हेल्प कमेटी, जीवन रक्षा, मारवाड़ होस्पिटल के सयुक्त तत्वावधान में रविंद्र रंग मंच मै 19 मार्च को कार्यक्रम
Image
सरकारी स्कूल के वार्षिकोत्सव समारोह में श्रीकोलायत पहुंचे एडीईओ सुनील बोड़ा ने किया छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत
Image
महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ के नेतृत्व में महिलाओं ने किया प्रदर्शन
Image
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर बोले डॉ. पी.एल.सरोज ; विज्ञान एवं कृषि विषयों द्वारा बन सकते हैं वैज्ञानिक
Image