सूर्यदत्ता एज्युकेशन फाउंडेशन देगा स्नातकोत्तर शिक्षा के लिए 100 छात्रों को छात्रवृत्ति

 


 

पुणे। महाराष्ट्र प्रान्त के विश्व स्तरीय संस्थान सूर्यदत्ता एज्युकेशन फाउंडेशन द्वारा हायर एज्युकेशन यानि स्नातकोत्तर शिक्षा के लिए 100 छात्रों को छात्रवृत्ति की घोषणा की गई है। डिग्री पूरी करने वाले छात्र को यह स्कॉलरशिप मिलेगी। सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय से संलग्नित एमएसी (संगणकशास्त्र), एमकॉम, एमबीए, अखिल तंत्रशिक्षण महामंडळ संलग्नित पीजीडीएम और मास्टर इन फाईन आर्टस् व पोस्ट ग्रॅज्युएट डिप्लोमा के लिए यह छात्रवृत्ति दी जाएगी। यह जानकारी सूर्यदत्ता के संस्थापक अध्यक्ष प्रा. डॉ. संजय चोरडिया ने यहां एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण हम सबपर आर्थिक संकट आया है, इस परिस्थिति में कई छात्र इस साल पोस्ट ग्रॅज्युएट न होने के विचार में है। उनका नुकसान ना हो, और साल भी व्यर्थ न हो, इसलिए सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट के `एज्यु-सोशियो कनेक्ट एंड सीएसआर इनिशिएटिव्ह' के तहत इस छात्रवृत्ति की घोषणा की है। डिग्री हासिल किए छात्र इस छात्रवृत्ति के लिए 5 अक्तूबर तक आवेदन कर सकेंगे। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान 'सूर्यदत्ता' के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रा. डॉ. शैलेश कासंडे, कार्यकारी संचालक प्रा. सुनील धाडीवाल, प्राचार्य अजित शिंदे, विभागप्रमुख मंदार दिवाने भी उपस्थित थे। प्रा. डॉ. संजय चोरडिया ने कहा, कोरोना के कारण देशभर में लॉकडाऊन किया गया उसका परिणाम सबको भुगतना पड़ा। बड़ी संख्या में लोगों की नोकरिया गई, बिझनेस बंद हुआ। ऐसे में शिक्षा क्षेत्र को भी भारी झटका लगा है। आर्थिक समस्या के कारण कई लोग अपने पाल्य को इस साल प्रवेश नहीं ले रहे है। छात्र भी आर्थिक समस्या के कारण पोस्ट ग्रॅज्युएशन करने का विचार छोड़ रहे है। स्नातकोत्तर शिक्षा हासिल करने की चाह होते हुए भी केवल फीस नहीं भर सकते इस कारण उनका साल व्यर्थ न हो, यह विचार लेकर सूर्यदत्ता करीब सौ छात्रों को मुफ्त प्रवेश देने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सामाजिक सरोकारों एवं भावना से हमारी कोअर टीम ने यह फैसला लिया है। एमएस्सी (संगणकशास्त्र), एमकॉम, एमबीए, पीजीडीएम आणि मास्टर इन फाईन आर्टस्, पोस्ट ग्रॅज्युएट डिप्लोमा (अर्धवेळ) जैसे स्किल्ड और एम्प्लॉयबिलिटी कोर्स के लिए यह छात्रवृत्ति दी जाएगी। इस माध्यम से छात्र और उनके पेरेंट्स को थोड़ी राहत मिलेगी। उन्होंने बताया कि सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट अच्छी, संशोधनात्मक और सर्वांगीण विकास को सामने रखकर शिक्षा देने वाली विश्व स्तरीय संस्था है। डॉ संजय के मुताबिक इस कोर्स के लिए लगभग 30 हजार से 2.50 लाख तक खर्चा होता है। छात्रवृत्ति पर करीब डेढ़ करोड़ के बजट में डॉक्टर्स, नर्सेस, पोलीस, शहीद जवान के बच्चे, पत्रकार वर्ग तथा अनाथ बच्चों के साथ आर्थिक रूप से पिछड़े लोग इसका लाभ ले सकते है। उन्होंने बताया कि समाज की विद्यार्थी सहायक समिती, पुणे विद्यार्थी गृह, पुणे श्रमिक पत्रकार संघ, जनसेवा फाउंडेशन, लीला पुनावाला फाउंडेशन जैसी कई सारी संस्थाओ से शिफारिश मंगवाई जा रही है। प्रा. डॉ. शैलेश कासंडे ने कहा, इस छात्रवृत्ति योजना में भाग लेने की अंतिम तारीख 5 अक्टूबर 2020 है। सामाजिक संस्थाए 10 अक्टूबर तक अपना शिफारिश पत्र दे सकते है। अलग-अलग संस्थाओं से और ऑनलाईन स्वरूप में आनेवाले आवेदनों को स्क्रूटिनी कर के तय समिती द्वारा पात्र छात्रों को चुना जायेगा। अधिक जानकारी और आवेदन के लिए सूर्यदत्ता ग्रुप की वेबसाइट पर संपर्क किया जा सकता है।

 

पत्रकार पांडुरंग रायकर के बच्चे का पूरा खर्चा उठाएगा 'सूर्यदत्ता' ग्रुप

 

पुणे के पत्रकार पांडुरंग रायकर का हांल ही में दुखद निधन हो गया, उनके चार साल का लड़का और ढाई साल की लड़की है। उनके लडके का दसवीं कक्षा तक का पूरा खर्चा सूर्यदत्ता एज्युकेशन फाउंडेशन द्वारा किया जाएगा। लड़का जहां भी पढ़े उसको वहां का खर्चा दिया जाएगा। यह घोषणा भी डॉ. संजय चोरडिया प्रेस कॉन्फ्रेंस में की। उन्होंने बताया कि पत्रकारों के होनहार बच्चों के लिए भी यह छात्रवृत्ति दी जाएगी। उन्हें पुणे श्रमिक पत्रकार संघ के अध्यक्ष की शिफारिश लानी जरुरी है।

Popular posts
बीकानेर में पहला पिंक ऑटो लाभार्थी कौशल्या देवी को सुपुर्द : केंद्रीय मंत्री अर्जुन, एमएलए सिद्धी, मेयर सुशीला, कलेक्टर मेहता व एसपी चंद्रा भी रही मौजूद
Image
श्रीराम सुपर 111 और 1-एसआर-14 गेहूं बीज राजस्थान के किसानों को दे रहा है बेहतर उत्पादकता !
Image
केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं का पात्र लोगों को मिले लाभ-मेघवाल / जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक आयोजित
Image
राज्य के बजट पर गहलोत, नितिन, सुमित की प्रतिक्रिया
Image
टीबी उन्मूलन की दिशा में चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा, टीबी की अत्याधुनिक जांचों के लिए बीकानेर में शुरू होगी विशेष लैब : डॉ. गुंजन सोनी
Image