अध्यक्ष डॉ तुक्तक की अभिनव पहल ; जार सदस्यों का चार लाख का दुर्घटना बीमा


उदयपुर। (छोटीकाशी ब्यूरो)।  जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ऑफ राजस्थान (जार) उदयपुर इकाई के सभी सदस्यों का युनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कम्पनी लिमिटेड की ओर से चार लाख का दुर्घटना बीमा करवाया गया। 11 जून 2020 को एक सादे कार्यक्रम में हिम्मतसिंह चौहान ने जार के सुमित गोयल, डॉ. तुक्तक भानावत, अजयकुमार आचार्य, अल्पेश लोढ़ा, डॉ. रवि शर्मा को पोलीसी भेंट की। जार जिलाध्यक्ष डॉ. तुक्तक भानावत ने बताया कि सभी सदस्यों का चार लाख रूपये का दुर्घटना बीमा करवाया गया है। इसके अन्तर्गत सडक़ दुर्घटना, गिरना, सर्पदंश, इलेक्ट्रिक शॉक आदि तरह की दुर्घटनाएं शामिल हैं। साथ ही हमेशा के लिए आंशिक अंग भंग के तहत भी अधिकतम चार लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता का प्रावधान है। यदि दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को दुर्घटना के कारण काम करने से अस्थायी रूप से अक्षम किया गया हो। मसलन, पैरों का फ्रेक्चर, हाथों का फ्रेक्चर आदि। ऐसे मामलों में डॉक्टर द्वारा बीमित व्यक्ति को बेड रेस्ट पर भेजा जाता है तो उसे कवरेज साप्ताहिक आधार पर प्रदान किया जाएगा। यह बीमा राशि के 1 प्रतिशत अधिकमत चार हजार रूपये साप्ताहिक तक सीमित है। कवरेज का भुगतान अधिकतम 100 सप्ताह या बीमित व्यक्ति की विकलांगता की अवधि के लिए किया जाएगा। हमेशा के लिए एक अंगभंग होने पर अधितम दो लाख रूपये तथा दो अंगभंग होने पर चार लाख रूपये बीमित व्यक्ति को मिलेगा। बीमे के भामाशाह हंसा माइनिंग कम्पनी लिमिटेड के हिम्मतसिंह चौहान ने बताया कि पत्रकार समाचारों के लिए दिन-रात फील्ड में कार्य करते रहते हैं। इस दौरान कई बार जोखिम भरी स्थितियां भी सामने आती हैं फिर भी वे सटीक खबरें पाठकों व दर्शकों तक पहुंचाते हैं। कोरोना महामारी के दौरान भी पत्रकार अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। ऐसे में पत्रकारों के लिए इस प्रकार का बीमा बहुत उपयोगी है।


Popular posts
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image
अग्रवाल की बीकानेर शहर के व्यापारियों व उद्योगपतियों से अपील, टीकाकरण वित्तीय सहयोग प्रदान करें
Image
सिद्धि कुमारी ने स्वीकृत किए 1 करोड़, बनेगा ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट : डेढ़ महीने पहले भी स्वीकृत किए थे 1 करोड़
Image
राजा जी फाउण्डेशन ने डिस्पेंसरी में दी इलेक्ट्रोनिक सैनेटाइजन मशीन, बिस्सा भी रहे मौजूद
Image