ग्रेमी अवार्ड विजेता पंडित विश्व मोहन भट्ट ने मोहन वीणा से नाद ब्रह्म का कराया साक्षात्कार


बीकानेर (छोटीकाशी डॉट कॉम ब्यूरो)। वर्तमान समय में राजस्थान की धरती पर वाद्य संगीत में अगर किसी का नाम आता है तो वो पद्मभूषण तथा ग्रेमी अवार्ड से नवाजे पंडित विश्व मोहन भट्ट। बीकानेर की धरती आज अपने आप को गौरवान्वित व हर्षित महसूस करती है कि वो उच्चतर स्तर के इस कलाकार की कलाकारी से रूबरू हुई। इस सपने को साकार किया है सेठ तोलाराम बाफना स्कूल और उसके सीईओ डॉ पी एस वोहरा ने। बीकानेर में सेठ तोलाराम बाफना अकादमी वो नाम है जो शिक्षा के साथ-साथ सामाजिक सरोकार के कार्यों को भी महत्वता देता है। इसी कड़ी में आज अकादमी के प्रांगण में पंडित विश्व मोहन भट्ट तथा तन्त्री सम्राट पंडित सलील भट्ट की जुगलबन्दी का कार्यक्रम एक म्यूजिक कन्सर्ट के रूप में रखा गया। म्यूजिक कन्सर्ट के इस कार्यक्रम में पंडित विश्व मोहन भट्ट एवं पंडित सलील भट्ट ने सर्वप्रथम राग गावती में आलाप, जोड़, झाला तथा विलम्बित तीन ताल में गत को पेश किया। उन्होंने अपने वादन में राग के वादी व संवादी स्वरों को विभिन्न लयकारियों में पेश कर उनके महत्व को स्पष्ट किया। विलम्बित लय में शुरू इस गत में भारतीय शास्त्रीय संगीत की सभी प्रकार की संगीतिक बारिकियों को बताया। इनके वादन में तिहाई के टुकड़ों की भरमार देखने को मिली। अपने वादन में मींड के द्वारा राग के स्वरूप को बहुत ही शानदार ढंग से पेश किया। उन्होंने राग बिहाग में द्रुत तीन ताल में गत को प्रस्तुत किया जिसमें उन्होंने गत के विभिन्न भावों को स्पष्टता से पेश किया। राग बिहाग के स्वरों को विभिन्न लयकारियों तथा मींड व झाले के माध्यम से पेश कर एक आलोकिक माहौल को उत्पन्न किया। राग बिहाग के वादन के दौरान उन्होंने मोहन वीणा तथा तबले के बीच के संवाद को भी दिखलाया। मोहन वीणा तथा तबले की एक सी लयकारियों में वातावरण में विचित्रता को पैदा किया। कार्यक्रम में उन्होंने राग जोग में एक धुनए सुप्रसिद्ध लोकगीत ‘केसरिया बालम’ तथा ‘वन्दे मातरम’ की धुन को भी मोहन वीणा के माध्यम से पेश किया। कार्यक्रम में जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने पंडित विश्व मोहन भट्ट व तन्त्री सम्राट सलील भट्ट का सॉल एवं स्मृति चिन्ह से सम्मान किया। इस कार्यक्रम में बीकानेर पूर्व की विद्यायक सुश्री सिद्धि कुमारी, मेजर जनरल माइकल ए जे फर्नान्डीस, भारत की पहली महिला कमाण्डर सुश्री तनुश्री पारीक, अलवर के भिवाड़ी से एसपी अमनदीप सिंह कपूर, ब्रीगेडियर भाल सिंह, कर्नल पी एस शेखावत, डीआरएम संजय श्रीवास्तव, पूर्व न्यायाधीश माणक मोहता, उद्योगपति राजकरण पुगलिया, डॉ राकेश हर्ष, डूंगर कॉलेज प्राचार्य डॉ सतीश कोशिक, डॉ राजेन्द्र पुराहित, डॉ अनीला पुरोहित, अविनाश जोशी, महावीर रांका, पूर्व मेयर नारायण चौपड़ा, गजेन्द्र सांखला तथा बीकानेर के कई विद्यालयों के प्राचार्य सहित कई अन्य गणमान्य महानुभाव उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन रवीन्द्र हर्ष ने किया।


Popular posts
पीएम मोदी के जन्मदिन पर रांका ने 200 मंदिरों में चढ़ाया प्रसाद, लगातार 20 दिन करेंगे सेवा व समर्पण कार्य
Image
रामेश रत्नम का भूमि पूजन शिखर चंद सुराणा के कर कमलों से हुआ
Image
डूंगर काॅलेज में प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान, पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण
Image
बीकानेर बीएसएफ में अध्यक्षा श्रीमती अंबिका राठौड़ की अगुवाई में हर्षोल्लास से मनाया गया बावा स्थापना दिवस
Image
पूर्व कलेक्टर और आज के मुख्य सचिव निरंजन आर्य से बीकानेर को 'महानगरों से कनेक्टिविटी' कराने की मांग
Image