बीकानेर में ब्लैक फंगस के 6 मरीज नोटिफाइड के बाद उपचार शुरु, 15 विभागों के डॉक्टरों के मेडिकल बोर्ड का गठन


बीकानेर (सीके न्यूज/छोटीकाशी)। राजस्थान में बीकानेर के सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस का उपचार शुरु हो चुका है। पीबीएम अस्पताल के पोस्ट कोविड ओपीडी में मेडिसिन, ईएनटी और नेत्र चिकित्सा विभाग के चिकित्सकों द्वारा सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक ब्लैक फंगस के मरीजों को चिकित्सकीय परामर्श दिया जा रहा है। यह जानकारी देते हुए कॉलेज के प्रिंसीपल डॉ. मुकेश चंद्र आर्य ने बताया कि ऐसेे मरीजों को भर्ती करने के लिए पीबीएम अस्पताल के पी वार्ड को चिन्हित किया गया है। डॉ आर्य ने बताया कि पीबीएम में ब्लैक फंगस के मरीजों की शल्य क्रिया की सुविधा एवं आवश्यक दवाइयां उपलब्ध हैं। ब्लैक फंगस के लिए पंद्रह विभागों के चिकित्सकों के मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है। ईएनटी विभाग के आचार्य डॉ गौरव गुप्ता तथा एड्रोक्रायनोलॉजी के सहायक आचार्य डॉ हरदेवराम नेहरा इसके समन्वयक होंगे। वहीं नेत्र विभाग की वरिष्ठ आचार्य डॉ अंजू कोचर को नोडल अधिकारी तथा वरिष्ठ प्रदर्शक डॉ जितेन्द्र आचार्य को सहायक नोडल अधिकारी बनाया गया हैं। समन्वयक डॉ गौरव गुप्ता ने बताया कि वर्तमान में पीबीएम में ब्लैक फंगस के छह मरीज नोटिफाइड हुए हैं, इनमें से चार मरीज भर्ती हैं। उधर कलक्टर नमित मेहता ने वर्तमान में कोविड मैनेजमेंट, भर्ती मरीजों की स्थिति, ऑक्सीजन की उपलब्धता, कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर अस्पताल द्वारा की जाने वाली तैयारियों सहित पीबीएम अस्पताल में बनने वाले नए ऑक्सीजन प्लांट की स्थिति के बारे में जानकारी ली है।

Popular posts
विश्व में सबसे ज्यादा सड़क सुरक्षा पर दोहे लिखकर बीकानेर के मेवासिंह ने बनाया रिकॉर्ड !
Image
बीएसएफ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम दास 31 वर्ष की सेवा के उपरांत सेवानिवृत्त, डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ ने दी शुभकामनाएं
Image
बेटिकट यात्रियों, नियम को नहीं मानने वालों से बीकानेर मंडल ने वसूला 1 करोड़ रुपए से ज्यादा राजस्व : रविंद्र चौहान पहले व आशीष व्यास दूसरे नंबर पर
Image
राजकीय डूंगर महाविद्यालय में वाहनों के प्रदूषण जाँच के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक द्वारा शिविर आयोजित
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने हेतु एनआरसीसी के महत्ती प्रयास, रोशनी युक्त सौन्दर्यकरण बेल आकृति लोकार्पित
Image