सांझ ढलने तक पर्यटक कर सकेंगे एनआरसीसी भ्रमण, कैमल राईडिंग व कैमल सफारी हेतू टिकटों की बिक्री 6 बजे तक




बीकानेर (सीके न्यूज/छोटीकाशी)। राजस्थान में गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र [एनआरसीसी] में भ्रमणार्थ आने वाले पर्यटकों के भ्रमण समय में परिवर्तन किया गया है। एनआरसीसी में भ्रमण का समय अब दोपहर 1:00 बजे से सायं 7:00 बजे तक निर्धारित किया गया है। टिकट खिड़की 6:30 बजे तक खुली रहेगी। वहीं कैमल राईडिंग एवं कैमल सफारी की सुविधा हेतु टिकटों की बिक्री सायं 6:00 बजे तक उपलब्ध रहेगी। केन्द्र के निदेशक डॉ आर्तबन्धु साहू ने कहा कि केन्द्र द्वारा गर्मी तथा सर्दी के मौसम को ध्यान में रखते हुए पर्यटन गतिविधियों के सुचारू संचालन एवं पर्यटकों के एनआरसीसी में भ्रमण के समय में एक नियमित अंतराल में परिवर्तन किया जाता है। परंतु विशेषकर गर्मी के मौसम में यह भी देखने में आ रहा है कि सायं को संस्थान की पर्यटन गतिविधियाँ निर्धारित समय पर बंद होने के कारण कई पर्यटकों को एनआरसीसी की विजिट का लुत्फ  नहीं उठाने का मलाल रहता है। अत: अब वे इस सुविधा का लाभ देर शाम (सांझ ढलनेे) तक ले पाएंगे। डॉ.साहू ने भावी समय में एनआरसीसी की पर्यटन गतिविधियों में और अधिक विस्तार एवं इनमें नवाचार लाए जाने के बारे में भी जानकारी देते हुए कहा कि पर्यटन दृष्टिकोण से संस्थान को और अधिक आकर्षक बनाए जाने की कवायद शीघ्र ही प्रारम्भ की जा रही है ताकि वैश्विक स्तर पर यह केन्द्र अनुसंधान के अलावा बेहतरीन पर्यटन गतिविधियों के रूप में अपनी पहचान कायम कर सके। केन्द्र की पर्यटन गतिविधियों के नोडल अधिकारी डॉ वेद प्रकाश, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया कि पर्यटक केन्द्र की वेबसाईट का भी अवलोकन करते हुए एनआरसीसी के भ्रमण.समय के परिवर्तन आदि के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
Popular posts
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image
अग्रवाल की बीकानेर शहर के व्यापारियों व उद्योगपतियों से अपील, टीकाकरण वित्तीय सहयोग प्रदान करें
Image
सिद्धि कुमारी ने स्वीकृत किए 1 करोड़, बनेगा ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट : डेढ़ महीने पहले भी स्वीकृत किए थे 1 करोड़
Image
राजा जी फाउण्डेशन ने डिस्पेंसरी में दी इलेक्ट्रोनिक सैनेटाइजन मशीन, बिस्सा भी रहे मौजूद
Image