133 बच्चों, 16 महिलाओं की घर वापसी सुनिश्चित कर मददगार बना उत्तर-पश्चिम रेलवे का रेलवे सुरक्षा बल




JAIPUR, 03 जनवरी (छोटीकाशी डॉट पेज)। उत्तर पश्चिम रेलवे North Western Railway का रेलवे सुरक्षा बल रेल यात्रा करने वाले यात्रियों के साथ-साथ आश्रयहीन महिलाओं तथा बच्चों के लिए मददगार साबित हो रहा है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण ने रविवार को बताया कि  रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बीते वर्ष 2020 में 133 बच्चों एवं 16 महिलाओं, जो बेघर हो गए थे, को उनके परिजनों, एनजीओ, पुलिस को सुपुर्द कर उनकी घर वापसी सुनिश्चित किया। वहीं रेलवे सुरक्षा बल रेल नियम तोडऩे वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही कर रहा है। वर्ष 2020 के दौरान रेल गाडी व रेल परिसर में आईपीसी/सीआरपीसी, आर्मस एक्ट, के तहत कुल 45 अपराधियों को पकड कर राजकीय रेलवे पुलिस को सुुपुर्द किया गया। उन्होंने बताया कि पूर्व में घटित एक अन्य घटना में हेड कांस्टेबल मुकेश मीणा तैनात जोधपुर पोस्ट द्वारा सवारी गाड़ी संख्या 22478 में फुलेरा से जोधपुर एस्कार्टिंग के दौरान मेड़तारोड स्टेशन पर चलती ट्रेन से गिरती हुई एक महिला, जहां पर स्थितियां बहुत विषम थी, अपने जीवन की चिन्ता किए बगैर उनके प्राणों को बचाया जिसके लिए उन्हें जीवन रक्षा पदक से सम्मानीत किया गया। यात्रियों तथा आमजन को सुरक्षित यात्रा कराने के लिए रेलवे सुरक्षा बल निरंतर प्रयासरत है।

Popular posts
युवा प्रोफेशनल व्यापारियों ने उठाया हर धर्म, जाति एवं सम्प्रदाय के कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों-जरुरतमंदों के भोजन व्यवस्था का बीड़ा
Image
नगर स्थापना दिवस पर सरिता विमल सुराणा के सहयोग से मास्क वितरित : लोकप्रिय पार्षद दुर्गादास, राजकुमार व्यास ने दी कोरोना गाइड लाइन की हिदायत
Image
"बीकानेर की स्वर्णकला और इसकी वर्तमान स्थिति"
Image
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image