133 बच्चों, 16 महिलाओं की घर वापसी सुनिश्चित कर मददगार बना उत्तर-पश्चिम रेलवे का रेलवे सुरक्षा बल




JAIPUR, 03 जनवरी (छोटीकाशी डॉट पेज)। उत्तर पश्चिम रेलवे North Western Railway का रेलवे सुरक्षा बल रेल यात्रा करने वाले यात्रियों के साथ-साथ आश्रयहीन महिलाओं तथा बच्चों के लिए मददगार साबित हो रहा है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण ने रविवार को बताया कि  रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बीते वर्ष 2020 में 133 बच्चों एवं 16 महिलाओं, जो बेघर हो गए थे, को उनके परिजनों, एनजीओ, पुलिस को सुपुर्द कर उनकी घर वापसी सुनिश्चित किया। वहीं रेलवे सुरक्षा बल रेल नियम तोडऩे वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही कर रहा है। वर्ष 2020 के दौरान रेल गाडी व रेल परिसर में आईपीसी/सीआरपीसी, आर्मस एक्ट, के तहत कुल 45 अपराधियों को पकड कर राजकीय रेलवे पुलिस को सुुपुर्द किया गया। उन्होंने बताया कि पूर्व में घटित एक अन्य घटना में हेड कांस्टेबल मुकेश मीणा तैनात जोधपुर पोस्ट द्वारा सवारी गाड़ी संख्या 22478 में फुलेरा से जोधपुर एस्कार्टिंग के दौरान मेड़तारोड स्टेशन पर चलती ट्रेन से गिरती हुई एक महिला, जहां पर स्थितियां बहुत विषम थी, अपने जीवन की चिन्ता किए बगैर उनके प्राणों को बचाया जिसके लिए उन्हें जीवन रक्षा पदक से सम्मानीत किया गया। यात्रियों तथा आमजन को सुरक्षित यात्रा कराने के लिए रेलवे सुरक्षा बल निरंतर प्रयासरत है।

Popular posts
राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज साहेब का अवतरण दिवस 5 मार्च को, त्रिदिवसीय श्री पद्मावती कृपा प्राप्ति आराधना-साधना महोत्सव का होगा आगाज
Image
NWR रेलवे जीएम आनंद प्रकाश का बीकानेर मंडल पर वार्षिक दौरा, डीआरएम DRM संजय श्रीवास्तव सहित अनेक मौजूद
Image
नोखा में श्री बालाजी हॉस्पिटल का शुभारम्भ, रामेश्वरानंदजी व अजय पुरोहित रहे बतौर अतिथि मौजूद
Image
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर बोले डॉ. पी.एल.सरोज ; विज्ञान एवं कृषि विषयों द्वारा बन सकते हैं वैज्ञानिक
Image
कैमल इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केंद्र देगा ऊंटपालकों को ट्रेनिंग
Image