गो उत्सव दूसरे दिन हुई संगोष्ठी:गौधूलि मुहूर्त  होता सबसे श्रेष्ठ, गोपाष्टमी पर एक दीप जलाए 


 



 


बीकानेर। श्रीगंगानगर रोड़ कानासर फांटा स्थित रामदेव मन्दिर गो शाला में आज 'गौ महोत्सव' के दूसरे दिन दो विषयों पर संगोष्ठी रखी गई। 'ज्योतिष शगुन और गाय' विषय पर प्रमुख वक्ता प्रहलाद ओझा 'भैरु' ने कहा कि भारतीय लोग आस्थावान है,गाय के प्रति उनकी दृढ़ आस्था है।घर से निकलते समय गाय अपने बछड़े को दूध पिलाती नजर आए तो कार्यसिद्धि और घर निकलते समय गाय अपने राइट साइड से सामने की ओर से आए तो अच्छा शगुन तथा गाय जिस जगह आराम से बैठकर चारा चरती हुई उगाळी का रस टपकाए उस जगह वास्तु दोष दूर हो जाता है ऐसा बड़े बुजुर्ग वर्षों से कहते आ रहे है और इसका प्रभाव आज भी लोग महसूस करते है। ओझा ने कहा कि जब कोई मुहूर्त न हो 'गौधूलि बेला' में शादी करना बताया जाता है, गौधूलि बेला में की गई शादी आमतौर से अधिक सफल देखी गई है। गोपाष्टमी पर गायों के लिये अपने घर पर  गौधूलिबेला में दीप जलाने की परंपरा है।


 



Popular posts
पीएम मोदी के जन्मदिन पर रांका ने 200 मंदिरों में चढ़ाया प्रसाद, लगातार 20 दिन करेंगे सेवा व समर्पण कार्य
Image
रामेश रत्नम का भूमि पूजन शिखर चंद सुराणा के कर कमलों से हुआ
Image
डूंगर काॅलेज में प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान, पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण
Image
बीकानेर बीएसएफ में अध्यक्षा श्रीमती अंबिका राठौड़ की अगुवाई में हर्षोल्लास से मनाया गया बावा स्थापना दिवस
Image
पूर्व कलेक्टर और आज के मुख्य सचिव निरंजन आर्य से बीकानेर को 'महानगरों से कनेक्टिविटी' कराने की मांग
Image