'विश्व में पांच लक्ष्यों पर काम करती है इंटरनेशनल एनजीओ जीसीएस इंडिया'





बीकानेर, 18 अप्रेल (सीके न्यूज छोटीकाशी)। ग्लोबल सिविल सोसाइटी इंटरनेशनल के नेशनल चेप्टर जीसीएस इंडिया की ओनलाइन मीटिंग रविवार को आयोजित की गई। जीसीएस इंडिया के राजस्थान संयोजक देवेंद्र सारस्वत ने बताया कि मीटिंग की अध्यक्षता नेशनल प्रेसीडेंट नामदेव श्रीगांवकर ने की तथा संचालन नेशनल सेक्रेटरी जनरल तानाजी लोहाकरे ने किया। मीटिंग को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष नामदेव श्रीगांवकर ने कहा कि जीसीएस इंटरनेशनल एक इंटरनेशनल एनजीओ है जो तीन सिद्धांत गुडविल (सद्भावना), कोपरेशन (सहयोग) तथा सर्विस (सेवा) पर आधारित है तथा विश्व में पांच लक्ष्यों पर काम करती है जिसमें स्वस्थ समाज, बेहतर जीवन, प्रकृति संरक्षण, मानवीय गरिमा की बहाली तथा वैश्विक शांति प्रमुख हैं। इसका मुख्यालय दक्षिण कोरिया के सियोल में स्थित है। गत वर्षों में जीसीएस इंटरनेशनल ने सामाजिक सारोकार के अपने उच्चतम स्तर को प्राप्त किया है। जीसीएस इंडिया प्रेसीडेंट ने आगे बताया कि जल्दी ही सामाजिक सारोकार के साथ.साथ नेशनल लेबल पर खेलों की विभिन्न प्रतियोगिताओं खासकर ताईक्वांडो मार्शल आट्र्स का आयोजन किया जायेगा। सांगठनिक दृष्टि से जिला एवं तहसील स्तर पर प्रसार किया जाएगा। मीटिंग में विभिन्न राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया जिसमें राजस्थान से देवेन्द्र सारस्वत, गुजरात से गोरांग मेहातरा, महाराष्ट्र से दीपाली ब्राह्मी, चंडीगढ़ से यामिनी गुप्ता, पंजाब से विनोद कुमार एवं नीलम रानी, गोवा से राजू पाटिल, उत्तर प्रदेश से सपना यादव तथा केरल से आर मुथूराथिनम ने भाग लिया। ग्लोबल सिविल सोसाइटी इंडिया के नेशनल जनरल सेक्रेटरी तानाजी लोहाकरे ने आभार व्यक्त किया।

Popular posts
श्री विश्वशांति एवं महालक्ष्मी कुबेर अनुष्ठान में लिये गये संकल्प का फल राष्ट्रपति से लेकर हर आम इंसान को मिलेगा : राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज
Image
15 हजार 119 व्यापारियों ने लिया वाणिज्यिक कर विभाग की एमनेस्टी स्कीम का लाभ, 42 करोड़ रुपये माफ : हरि सिंह चारण
Image
प्रयागराज-जयपुर एक्सटेंशन बीकानेर ट्रेन को जल्द चलाया जाए, पुरी ट्रेन के खाली रेक को भेजें हरिद्वार
Image
नवाचार के साथ संयुक्त शपथग्रहण समारोह, नारायण चोपड़ा ने श्रावक निष्ठा पत्र का सभी को वाचन करवाया
Image
अभिमंत्रित सिद्ध होने वाले 5 हजार कलश जिस घर में पहुंचेंगे वहां सम्पन्नता, ऐश्वर्य, सुख व समृद्धि का होगा वास
Image