उच्च शिक्षा के लिए 100 नौकरीपेशा लोगों को शत प्रतिशत छात्रवृत्ति, सूर्यदत्ता एज्युकेशन फाउंडेशन ने घोषित की 30 लाख की छात्रवृत्ति



 


पुणे। विभिन्न कंपनियों में नौकरी करने वाले युवाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए सूर्यदत्ता एजुकेशन फाउंडेशन की ओर से 30 लाख रुपयों की छात्रवृत्ति दी जाएगी। सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय से संलग्न अंशकालिक पाठ्यक्रमों के लिए इस छात्रवृत्ति का लाभ लिया जा सकता है। यह जानकारी सूर्यदत्ता के संस्थापक अध्यक्ष प्रो. डॉ. संजय चोरडिया ने प्रेस वार्ता में दी। इस दौरान संस्था की अधिष्ठाता प्रो. नूतन जाधव, प्रो. शांतिलाल हजेरी आदि भी उपस्थित थे। डॉ. चोरडिया ने कहा कि यह छात्रवृत्ति योजना नौकरी करने वाले लोगों के लिए एक स्वर्णिम अवसर है। इस योजना का यह 11वां वर्ष है। बीते 10 वर्षों में 1200 से अधिक नौकरीपेशा छात्रों ने करीब ढाई से तीन करोड़ रुपयों की छात्रवृत्ति का लाभ लिया है। 200 से अधिक कंपनियों में अपनी संस्था में अच्छे कर्मचारियों की इस छात्रवृत्ति के लिए सिफारिश की। इस छात्रवृत्ति के लिए उम्मीदवार का स्नातक और 22 से 55 उम्र की आयु का होना जरुरी है। डॉ. चोरडिया ने विभिन्न कंपनियां अपने ईमानदार और जरुरतमंद कर्मचारियों की हमारी ओर सिफारिश करती हैं।

डॉ. चोरडिया ने कहा कि सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स एक क्वालिटी और अनुसंधानात्मक शिक्षा के लिए वैश्विक स्तर पर अपनी विशिष्ट पहचान के साथ जाना जाता है, यही नहीं, विशेषज्ञ प्रबंधन वाले संस्थान के तौर पर इसकी पहचान है। वित्तीय स्थिति के चलते स्नातक की शिक्षा होने के बाद युवाओं को नौकरी के लिए प्रयास करने पड़ते हैं। ऐसे में उनकी उच्च शिक्षा की इच्छा अधूरी रह जाती है। कई नौकरपेशा लोगों को पोस्ट ग्रेज्युएशन की डिग्री ना होने के चलते प्रमोशन नहीं मिलता। ऐसे लोग जीवन में तरक्की करने के लिए इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

‘सूर्यदत्ता’ की इस योजना का लाभ अब तक टाटा याजकी, नोवार्टीस, आइडीबीआइ बैंक, जेडएफ स्टियरिंग, हिंदुस्तान कोकाकोला, सैंडविक, भारत फोर्ज, मर्सिडीज बेन्ज, सिप्ला, किर्लोस्कर चिल्लर्स, चौघुले इंडस्ट्रीज, सहज इन्फोटेक जैसी बड़ी कंपनियों के कर्मचारियों ने लिया है। इस छात्रवृत्ति योजना का लाभ लेने के लिए 30 अप्रैल तक आवेदन किया जा सकता है, ऐसी जानकारी डॉ. चोरडिया ने दी। सावित्रीबाई फुले पुणे विद्यापीठ से संलग्न पोस्ट ग्रैज्युएट डिप्लोमा इन मार्केटिंग मैनेजमेंट (पीजीडीएमएम), पोस्ट ग्रैज्युएट डिप्लोमा इन इम्पोर्ट-एक्स्पोर्ट मैनेजमेंट (पीजीआयईएम), पोस्ट ग्रैज्युएट डिप्लोमा इन फायनान्सियल सर्विसेस (पीजीडीएफएस), पोस्ट ग्रैज्युएट डिप्लोमा इन मटेरियल्स एंड लॉजिटिक्स मैनेजमेंट (पीजीडीएमएलएम), पोस्ट ग्रॅज्युएट डिप्लोमा इन फॉरेन ट्रेड (पीजीडीएफटी) एक वर्ष के पांच पाठ्यक्रमों के लिए यह छात्रवृत्ति लागू है।  प्रोडक्शन मैनेजर, स्टोर मैनेजर, लाइन लीडर, सीनियर इंजीनियर, हार्डवेयर-सॉफ्टवेयर इंजीनियर, टीम मेम्बर, असिस्टंट ब्रांच मैनेजर, डायरेक्टर, पर्चेस ऑफिसर, स्टोर असिस्टंट, सुपरिंटेंडेंट्स जैसे पदों पर  काम करने वाले इसके लिए पात्र होंगे। कर्मचारी अपने क्लास में उपस्थित रह सकें इसके लिए सभी लेक्चर्स वीकेंड में कार्यालयीन समय के बाद होंगे।  डॉ. चोरडिया ने यह भी कहा कि सूर्यदत्ता संस्था में जूनियर क्लार्क, समन्वयक, लायब्रेरियन, रिशेप्शनिस्ट व अन्य कनिष्ठ पदों पर काम करनेवपाले 70 से अधिक कर्मचारियों ने इस योजना के तहत अपनी स्नातकोत्तर शिक्षा पूर्ण की। आज अनेक कर्मचारी पीएचडी कर रहे हैं। कइयों को प्रमोशन मिलता है, कुछ वरिष्ठ व संचालक पदों तक पहुंचे हैं तो कुछ ने खुद का भी व्यवसाय शुरू किया है। यह इस योजना की बड़ी सफलता है।

Popular posts
श्री विश्वशांति एवं महालक्ष्मी कुबेर अनुष्ठान में लिये गये संकल्प का फल राष्ट्रपति से लेकर हर आम इंसान को मिलेगा : राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज
Image
15 हजार 119 व्यापारियों ने लिया वाणिज्यिक कर विभाग की एमनेस्टी स्कीम का लाभ, 42 करोड़ रुपये माफ : हरि सिंह चारण
Image
प्रयागराज-जयपुर एक्सटेंशन बीकानेर ट्रेन को जल्द चलाया जाए, पुरी ट्रेन के खाली रेक को भेजें हरिद्वार
Image
नवाचार के साथ संयुक्त शपथग्रहण समारोह, नारायण चोपड़ा ने श्रावक निष्ठा पत्र का सभी को वाचन करवाया
Image
अभिमंत्रित सिद्ध होने वाले 5 हजार कलश जिस घर में पहुंचेंगे वहां सम्पन्नता, ऐश्वर्य, सुख व समृद्धि का होगा वास
Image