महाकाल के दर्शन कर चुनावी शंखनाद किया कमलनाथ ने


 



 


महाकाल सवारी  मार्ग की परंपराओं को तोड़ना दुर्भाग्य जनक बताया


उज्जैन। पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ आज यहां हेलीकॉप्टर से 11:00 बजे उज्जैन हेलीपैड पर पहुंचे और वहां उनके साथ सज्जन वर्मा भी थे और उनकी अगवानी के लिए विधायक महेश परमार रामलाल मालवीय ,दिलीप गुर्जर, मुरली मोरवाल ,मनोज चावला, जिला कांग्रेस अध्यक्ष कमल पटेल, पुर्व अध्यक्ष अनंत नारायण मीणा प्रदेश महामंत्री अजीत सिंह योगेश शर्मा मनीष शर्मा,प्रदेश सचिव कमल चौहान वीनू कुशवाहा सुरेन्द्र मरमट, सोनू शर्मा, विक्की चौहान धीरज यादव सहित कई कांग्रेसीयो  ने कमलनाथ की अगवानी की और फिर वहां से वे सीधे महाकालेश्वर मंदिर के लिए रवाना हो गए मार्ग मे कार्यकर्ताओं द्वारा लगाए गए मंचों पर उन्होंने हाथ हिलाकर अभिवादन किया जानकारी देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ  ने महाकालेश्वर मंदिर पहुंचते ही मंदिर धर्मशाला में प्रशासक सुजान रावत कांग्रेस प्रवक्ता विवेक गुप्ता ने उनकी अगवानी की और उन्होंने मन्दिर पहुंचते ही प्रशासन को कह दिया कि मैं मंदिरों के नियम के का पालन करूंगा और बाहर से ही पूजा दर्शन करूंगा।  लगभग 20 मिनट तक कमलनाथ  ने नंदी हॉल में बैठकर भगवान महाकालेश्वर का पूजन अर्चन किया और प्रदेश की समृद्धि की कामना सहित मध्यप्रदेश में होने वाले आगामी 24 सीट के लिए होने वाले उपचुनाव के लिए भगवान महाकालेश्वर से कांग्रेस के विजय के लिए प्रार्थना की कामना की ।दर्शनों के पश्चात वे  प्रवचन हॉल में मीडिया जगत से मुखातिब और रूबरू हुए और कहा कि उज्जैन में श्रावण मास में महाकाल की निकलने वाली सवारी के मार्ग की परंपराओं को तोड़कर धर्म प्रिय जनता को दर्शनो से वंचित  किया है यह दुर्भाग्य जनक है पूरे समय उनके साथ रहे तराना के विधायक महेश परमार ने कहा है  कि उज्जैन में श्रावण मास  मे  मार्ग को छोटा करने वाले  कलेक्टर ने जन आस्था को चोट पहुंचाई है और उसके बाद भी वह भोले के भक्तों को भरमा रहे हैं कि हर और हरसिद्धि का मिलन कराया जबकि हर और हरसिद्धि यानी शिव और शक्ति तो साथ ही है परंपरा तो प्रतीक्षारत  हरी -हर के मिलन की परंपरा रही है जिसे कलेक्टर आशीष सिंह ने नहीं होने दिया। ज्ञात रहे कि हरिहर मिलन की परंपरा रही है कि भगवान भोलेनाथ को प्रतीक्षरत प्रभु नारायण सृष्टि का भार सोपते हैं ऐसी मान्यता चली आ रही है इस धर्म नगरी पर कलेक्टर आशीष सिंह ने कुठाराघात किया है उसके पास उसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सीधे हेलीपैड स्थल के लिए रवाना हो गए और वहां से उन्होंने बदनावर के लिए प्रस्थान किया ।


Popular posts
युवा प्रोफेशनल व्यापारियों ने उठाया हर धर्म, जाति एवं सम्प्रदाय के कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों-जरुरतमंदों के भोजन व्यवस्था का बीड़ा
Image
नगर स्थापना दिवस पर सरिता विमल सुराणा के सहयोग से मास्क वितरित : लोकप्रिय पार्षद दुर्गादास, राजकुमार व्यास ने दी कोरोना गाइड लाइन की हिदायत
Image
"बीकानेर की स्वर्णकला और इसकी वर्तमान स्थिति"
Image
केंद्र सरकार ने देश के स्कूलों की मदद करने के लिए एनसीसी को स्व वित्तीय पोषण योजना के रुप में किया आरंभ
Image
बीएसएफ सैक्टर बीकानेर मना रहा गौरवमय 50 वर्ष स्थापना दिवस, सीमा पर तैनात जवानों ने बखूबी फर्ज निभाते हुए बॉर्डर को सुरक्षित रखा
Image