जीवन के नतीजे आपकी सोच व उससे उत्पन्न आपकी फीलिंग के परिणाम होते है : डॉ जगदीश पारीक / हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान का राष्ट्रव्यापी तीन दिवसीय कार्यशाला में अचीवर्स का सम्मान












जयपुर। विश्व स्तरीय हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान का राष्ट्रव्यापी तीन दिवसीय कार्यशाला राजधानी के हैवा हेवन रिसोर्ट में सपन्न हुआ। समापन समारोह में संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ जगदीश पारीक ने कहा कि मस्तिष्क के प्रोग्राम को किसी भी उम्र में रि-प्रोग्राम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि विज्ञान ने इतने रिसर्च व सिद्धांत विकसित कर लिए है जिनका प्रयोग करके साधारण व्यक्ति भी एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी बन सकता है। डॉ पारीक के मुताबिक दुनिया कि सबसे मुश्किल व महंगी न्यूरो ट्रेनिंग हर भारतीय तक आसानी व सहजता से पहुचाने का कार्य हेल्प इंडिया कर रहा है। हेल्प इंडिया ऑनलाइन संस्थान के राष्ट्रीय महामंत्री एमएफए डॉ पवनकुमार पारीक ने बताया कि कार्यक्रम के तीन चरणों में 1100 लोग शामिल हो रहे है। न्यरोसाइंस एवं मेटास्किल ट्रेनिंग के बाद डीजीटी ट्रेनिंग के प्रमाण पत्र वितरण किये गए। अनेक अचीवर को मानव मित्र सम्मान, विवेकानंद पुरस्कार एवं लेपटॉप वितरण अतिथियों द्वारा प्रदान किये गए।

कार्यक्रम में संस्थान के लीगल विंग राष्ट्रीय चैयरमेन गोवेर्धन सिंह एवं राष्ट्रीय प्रभारी आनंद शर्मा ने संस्थान के जुड़े प्रकल्पों के लीगल कार्यों को बारीकियों से समझाया। संस्थान के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजासिंह ने प्रीवेंटिव हेल्थ के बारे विस्तार से बताया। डीएमआईटी विंग की राष्ट्रीय चैयरमेन प्रियंका माने ने शिक्षा की राष्ट्रीय नीति में डीएमआईटी को शामिल करने की मांग रखते हुवे डीएमआईटी के ऑथेंटिक होने के प्रमाण पेश किए एवं टेलेंट के मुताबिक उनके विषय चयन करने के बारे में बताया। शिक्षा विंग के राष्ट्रीय प्रभारी डॉ चंद्रशेखर श्रीमाली ने केरियर काउंसलिंग एवं राष्ट्रीय सचिव श्याम सिंह शेखावत ने संस्थान की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। राष्ट्रीय महामंत्री एमएफए डॉ पवनकुमार पारीक ने संगठन एवं सामाजिक कार्यो के बारे में बताया कि बीते 1 वर्ष में देश ही नहीं दुनिया ने कोरोना काल की महामारी का चुनौतीपूर्ण तरीके से सामना किया है, ऐसे दौर में हेल्प इंडिया की देशव्यापी टीम ने सामाजिक सरोकारों में आगे रहते हुए करीब 9 लाख से अधिक मास्क का वितरण किया व गांव-गांव ढाणी-ढाणी में जरूरतमंदों को राशन सामग्री, वस्त्र, सैनिटाइजर, दवाओं आदि का वितरण कर एक रिकॉर्ड कायम किया। कार्यक्रम में प्रथम दिन सुशीला भारती, सोनल एवं हेमा सिंह द्वारा  नखराली नार रंगारंग कार्यक्रम पेश किया। दूसरे दिन पद्मश्री गुलाबो सपेरा एवं टीम के द्वारा कालबेलिया नृत्य एवं कवि श्री विष्णु पारीक ने अपनी प्रस्तुति दी।

कार्यक्रम में फर्स्ट अटेम्प्ट शार्ट मूवी का पोस्टर एवं टेलर बताया गया तथा जयपुर रत्न कार्यक्रम के ब्रांड एम्बेसडर डॉ जगदीश पारीक को बनाने की घोषणा हुई। नचिकेता गुरुकुल के 28 विद्यार्थियों को डीएमआईटी रिपोर्ट देकर सम्मान किया तथा आगामी एक सप्ताह तक शेषन एवं काउंसलिंग की घोषणा की।

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथि मनीष पारीक, गुलाबो सपेरा, पूनम खंगारोत, अजय पारीक, देवेंद्र धाकड़, अम्बालिका शास्त्री, रिंकू गुजर आदि का स्वागत प्रदेश कार्यकारणी द्वारा किया गया।