संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत काउंटर टेररिज्म ऑपरेशन पर केंद्रित भारत-अमेरिका संयुक्त प्रशिक्षण युद्धअभ्यास सम्पन्न







बीकानेर, 21 फरवरी (सीके मीडिया/छोटीकाशी)। संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत रेगिस्तानी इलाके महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में काउंटर टेररिज्म ऑपरेशन पर केंद्रित भारत अमेरिका संयुक्त प्रशिक्षण युद्धाभ्यास रविवार को सम्पन्न हो गया। डिफेंस पीआरओ लेफ्टिनेंटन कर्नल अमिताभ शर्मा ने बताया कि इस युद्धाभ्यास का मुख्य उद्देश्य दोनों देशों की सैन्य टुकडिय़ों में बेहतर सामंजस्य एवं आपसी सद्भाव की स्थापना के साथ साथ उग्रवाद विरोधी अभियानों एवं सामरिक कार्यवाहियों को सफलतापूर्वक अंजाम देना था। इस युद्ध अभ्यास ने दोनों सैन्य टुकडिय़ों को एक दूसरे के बैटल ड्रिल एवं 'ऑपरेशनल प्रोसीजर' को समझने का बेहतरीन अवसर प्रदान किया है। युद्ध अभ्यास के चरण में तकनीकी कौशल एवं युद्ध जैसे हालात में कार्यवाही शामिल थी। दोनों सैन्य टुकडिय़ों ने इसे सफलतापूर्वक पूरा किया। प्रथम चरण में हासिल किए गए अनुभव एवं सामरिक क्रियाकलाप को दोनों सैन्य दस्तों ने द्वितीय चरण में जमीनी हालात में जांचा और परखा। दोनों सैन्य टुकडिय़ों ने 54 घंटे  की वैलिडेशन अभ्यास की कार्यवाही को सामूहिक रूप से सफलतापूर्वक अंजाम दिया। इस अभ्यास में विभिन्न काउंटर आतंकवादी अभियानों की योजना और निष्पादन शामिल था। इस अभ्यास का मुख्य आकर्षण सैनिकों द्वारा प्रदर्शित की जाने वाली बोनहोमी और कैमाराडरि थी जिससे सभी स्तरों पर एकीकरण और उपलब्धि सुनिश्चित हुई। इस वैलिडेशन अभ्यास को अमेरिकी सेना के मेजर जनरल डैनियल मैक डैनियल, डिप्टी कमांडर जनरल, यूनाइटेड स्टेट्स आर्मी पैसिफिक और मेजर जनरल जेवियर ब्रूनसन, जनरल ऑफिसर कमांडिंग, 7 इन्फैंट्री डिवीजन और भारतीय सेना के मेजर जनरल माईकल फर्र्नांडीज एवं मेजर जनरल गुरप्रीत सिंह, जनरल ऑफिसर कमांडिंग, रणबांकुरा डिवीजन द्वारा देखा और परखा गया। इस युद्धअभ्यास के दौरान कई एरियल प्लेटफॉर्म जिसमें भारतीय सैना में हाल ही में शामिल हुए नए स्वदेशी एडवांस लाइट हेलीकॉप्टर डब्ल्यूएसआई 'रुद्र', एमआई.17, चिनूक, अमेरिकी सैना के स्ट्राइकर वाहन और भारतीय सेना के बीएमपी मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री कॉम्बैट व्हीकल का भी उपयोग किया गया। 


दोनों सेनाओं ने देखे समृद्ध संस्कृति और विरासत को प्रदर्शित करने वाले कार्यक्रम

भारतीय और अमेरिकी सेना के बीच संयुक्त सैन्य युद्धअभ्यास-20 का समापन समारोह रविवार को महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में आयोजित किया गया। इस महत्वपूर्ण द्विपक्षीय संयुक्त युद्धअ‍भ्यास में भारतीय सेना के 'सप्तशक्ति कमान' की 11 जैक राईफल्स बटालियन ने भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व किया जबकी अमेरिकी सेना के दस्ते का प्रतिनिधित्व 2 बटालियन, 3 इन्फैंट्री रेजिमेंट, 1-2 स्ट्राइकर ब्रिगेड कॉम्बैट टीम जो कि 7वीं इन्फैंट्री डिवीजन का हिसा है द्वारा किया गया। यह समापन समारोह संयुक्त सैन्य युद्धअभ्यास-20 के सफलतापूर्वक पूरा होने पर आयोजित किया गया। दोनों देशों की समृद्ध संस्कृति और विरासत को प्रदर्शित करने वाले कार्यक्रमों की श्रृंखला भी दोनों सेनाओं द्वारा देखी गई। यह संयुक्त युद्धाभ्यास भारत-अमेरिका संबंधों के साथ-साथ आतंक पर वैश्विक युद्ध की दिशा में एक और महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा।

Popular posts
राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी महाराज साहेब का अवतरण दिवस 5 मार्च को, त्रिदिवसीय श्री पद्मावती कृपा प्राप्ति आराधना-साधना महोत्सव का होगा आगाज
Image
पीबीएम हेल्प कमेटी, जीवन रक्षा, मारवाड़ होस्पिटल के सयुक्त तत्वावधान में रविंद्र रंग मंच मै 19 मार्च को कार्यक्रम
Image
सरकारी स्कूल के वार्षिकोत्सव समारोह में श्रीकोलायत पहुंचे एडीईओ सुनील बोड़ा ने किया छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत
Image
महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ के नेतृत्व में महिलाओं ने किया प्रदर्शन
Image
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर बोले डॉ. पी.एल.सरोज ; विज्ञान एवं कृषि विषयों द्वारा बन सकते हैं वैज्ञानिक
Image