रोडवेज के रिटायर्ड कर्मचारियों का चार साल से बकाया भुगतान को लेकर धरना, प्रदर्शन






बीकानेर, 22 जनवरी (CK MEDIA)। रोडवेज के रिटायर्ड कर्मचारी अपने अगस्त 2016 से बकाया सभी रिटायरल भुगतान, ग्रेच्युटी, जीएच, ओडी, ओवरटाइम इत्यादि भुगतान करने के लिए 18 से 22 जनवरी तक पांच दिवसीय शानदार धरना जो नारेबाजी, जौश के साथ बस स्टैंड पर लगाया गया। आज के धरने में पदाधिकारी विक्रम सिंह राठौड़, हनुमंत मेहरा, महावीर सिंह, जाहिद हुसैन, किसन सिंह, रामेश्वर खीचड़, अनिल मुंजाल, ओम पुरोहित, देवदत शर्मा, रामेश्वर सोलंकी, देवी प्रकाश शर्मा, घनश्याम शर्मा ने सक्रियता से भाग लिया। रिटायर्ड कर्मचारी गिरधारीलाल ने बताया कि राज्य सरकार के सभी करमचारियों को रिटायर बाद उनके सभी रिटायरल भुगतान, पेंशन तुरंत मिल जाते हैं। परंतु रोडवेज करमचारी अपने बकाया भुगतानों के लिए गत पांच सालों से ज्ञापन, प्रदर्शन आंदौलन, स्टीकर, पोस्टकार्ड इत्यादि लोकतांत्रिक तरीकों से कार्वाई करने के बाद भी अभी तक अपने भुगतानों के लिए तरस रहे हैं। उन्होंने बताया कि हमारे निरंतर आंदोलनों के बावजूद रोडवेज व राजस्थान सरकार द्वारा कोई कार्यवाही न करना उनकी संवेदनहीनता व विफलता साफ नजर आ रही है। कल्याणकारी सरकार होना मात्र एक दंभ व ढकोसला साबित हो रहा है। कांग्रेस ने 2018 में राज्य सभा चुनावों में रोडवेज करमचारियों से उनकी सभी मांगों को पूरा करने का वादे किये जो अभी तक पूरे नहीं करने से रोडवेज करमचारियों में रोष, आक्रोश के साथ अपने आप को ठगा सा मेहसूस कर रहे हैं। माह दिसंबर 20 के वेतन, पेंशन आज  22 जनवरी तक नहीं मिलने से आक्रोशित धरने में मौजूद सभी करमचारी मुख्य प्रबंधक श्रीमती इंद्रा गोदारा का नारेबाजी से घेराव करते हुए शीघ्रातिशीघ्र भुगतान की मांग की जाने पर फोन पर मुख्यालय बात कर के 27 जनवरी तक भुगतान का आश्वासन दिया गया। अध्यक्ष विक्रम सिंह राठौड़ ने पांच दिवसीय धरनों में  आने वाले सभी साथियों का आभार व धन्यवाद ज्ञापित करते हुए एसोसिएशन के आगामी आंदोलनों में सक्रियता से भाग लेने का आव्हान करते हुए धरने को यहीं विराम देने की घोषणा की गई।