500 वर्षों में मां करणी के व 302 वर्षों में पहली बार बंद हुए पूनरासर हनुमानजी मंदिर के दर्शन द्वार


बीकानेर, 20 मार्च। केंद्र और राजस्थान सरकार की एडवाइजरी को तरजीह देते हुए कोरोना संक्रमण बचाव के लिए 32 किलोमीटर दूर देशनोक स्थित जगप्रसिद्ध मां करणी व 52 किलोमीटर दूर पूनरासर स्थित श्री हनुमानजी मंदिर के दर्शन द्वार दर्शनार्थियों के लिए शुक्रवार से 31 मार्च 2020 तक बंद कर दिए गए हैं। श्री करणी मंदिर निजी प्रन्यास देशनोक के अध्यक्ष गिरिराजसिंह बारठ (नरेश) ने बताया कि 500 वर्षों के इतिहास में पहली बार आम श्रद्धालूओं के लिए माता के दर्शन द्वार बंद किए गए हैं। साथ ही नेहडीजी मंदिर व तेमडराय मंदिर में भी प्रभू के द्वार दर्शनार्थियों के लिये बंद रहेंगे। हालांकि इन मंदिरों में नियमित केवल पूजा होती रहेगी। उधर बीकानेर से 52 किलोमीटर दूर पूनरासर स्थित हनुमान मंदिर में 302 वर्षों के इतिहास में पहली बार पूनरासर हनुमान मंदिर दर्शन द्वार शुक्रवार से 31 मार्च 2020 तक बंद कर दिए गए हैं। मंदिर श्री पूनरासर हनुमान जी पूजारी ट्रस्ट के मंत्री महावीर बोथरा ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम प्रसारित संदेश की प्रेरणा से कोरोना महामारी को देखते हुए ट्रस्ट ने दर्शकों की व्यवस्था (निज मंदिर एवं खेजड़ी मंदिर) में श्रद्धालूओं के दर्शनों की व्यवस्था 31 मार्च तक बंद रहेगी।


Popular posts
पीएम मोदी के जन्मदिन पर रांका ने 200 मंदिरों में चढ़ाया प्रसाद, लगातार 20 दिन करेंगे सेवा व समर्पण कार्य
Image
रामेश रत्नम का भूमि पूजन शिखर चंद सुराणा के कर कमलों से हुआ
Image
डूंगर काॅलेज में प्रख्यात शिक्षाविद् एवं रसायनज्ञ प्रो. रविन्द्र कुलश्रेष्ठ का सम्मान, पुस्तक आध्यात्मिक अंकुर नाम पुस्तक का भी वितरण
Image
बीकानेर बीएसएफ में अध्यक्षा श्रीमती अंबिका राठौड़ की अगुवाई में हर्षोल्लास से मनाया गया बावा स्थापना दिवस
Image
पूर्व कलेक्टर और आज के मुख्य सचिव निरंजन आर्य से बीकानेर को 'महानगरों से कनेक्टिविटी' कराने की मांग
Image